बहादुरगढ में पकड़ी नकली सिक्के बनाने वाली फैक्ट्री, लाखों रुपए के नकली सिक्के बरामद

बहादुरगढ (प्रवीण धनखड़): बहादुरगढ में नकली सिक्के बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ है। फैक्ट्री में चोरी छुपे पांच रुपए के सिक्के बनाए जा रहे थे। जिन्हें एक महिला की मदद से होटल, टोल और दूसरी जगहों पर सप्लाई किया जाता था। गणपति धाम में पिछले कई महीनों से नकली सिक्के बनाने का काम चल रहा था। फरीदाबाद की क्राइम ब्रांच में इस फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है।जानकारी के अनुसार क्राइम ब्रांच की टीम ने कल फरीदाबाद से तीन पुरुष और 1 महिला को ढाई लाख के नकली सिक्कों के साथ इनोवा कार से गिरफ्तार किया।



यह सभी आरोपी फरीदाबाद में सिक्के सप्लाई करने के लिए गए हुए थे। पूछताछ में पता चला कि यह सिक्के बहादुरगढ़ के गणपति धाम में स्थित एक फैक्ट्री में बनाए जा रहे हैं और पिछले काफी लंबे समय से नकली सिक्के बनाने का काम यहां पर चल रहा था। उन्होंने बताया कि लाखों रुपए के नकली सिक्के अब तक आरोपी बाजार में दे चुके हैं। डीएसपी अजायब सिंह ने बताया कि चारों आरोपियों को फरीदाबाद क्राइम ब्रांच की पुलिस बहादुरगढ़ लेकर पहुंची है। साथ ही बहादुरगढ़ पुलिस ने पूरे मामले की जांच में फिलहाल जुटी हुई है।



वहीं करीब लाखो के नकली सिक्के फैक्ट्री के अंदर से भी बरामद किए गए। आरोपियों ने फैक्ट्री के अंदर मशीनें लगा रखी हैं, आरोपी लोहे की प्लेट को काटकर सिक्के बनाते थे और उस पर निकल पोलिस कर सिक्के का रंग देते थे। फिर डाई की मदद से सिक्का बनाया जाता था। आरोपी चोरी छुपे एक महिला की मदद से हरियाणा और देश की राजधानी दिल्ली के कई हिस्सों में यह नकली सिक्के सप्लाई करने का काम करते थे।



यह आरोपी  इंडियन गवर्नमेंट मिंट नोएडा की फर्जी पर्ची लगा कर इन सिक्कों को सप्लाई करते थे। ताकि किसी को  इनके नकली होने का शक ना हो और आराम से यह सिक्के बाजार में उतारे जा सके। फर्जी सिक्के बनाने के लिए आरोपियों ने बहादुरगढ़ के गणपति धाम में  फैक्ट्री किराए पर ले रखी है। फिलहाल आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। जहां से रिमांड पर लेकर उनसे आगे पूछताछ की जाएगी। आरोपियों से पूछताछ में और भी कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद बनी हुई है।

 
 

Related Stories:

RELATED आप भी मन्नत मांगने के लिए नदी में फेंकते हैं सिक्के !