शैलजा हत्याकांड: CCTV और मोबाइल ने खोल दी लव अफेयर की सारी कहानी

नई दिल्ली(मुकेश ठाकुर) : कोई भी चैलेंज हो या कठिन काम, शैलजा हर बातों को स्वीकार करती थी। उसकी फेसबुक प्रोफाइल सहित बनी वेबसाइट पर भी ये बातें लिखी हैं। लेकिन इस चैलेंजिंग गर्ल का खात्मा ऐसे होगा इसकी उम्मीद किसी को नहीं थी। दूसरी तरफ मेजर अमित हांडा भी चुनौतियों का सामना करने का जुनूनी था और मात नहीं खाता था, लेकिन जब उसे प्यार में मात मिली तो उसने अपना आपा खो दिया और अपने ही करीबी दोस्त की पत्नी और प्रेमिका की हत्या कर दी। पकड़े जाने पर मेजर निखिल हांडा ने स्वीकार किया और कहा कि जब एक फौजी को मात मिलती है चाहे वह जंग में हो या फिर मैदान, तो वह टूट जाता है और जीतने के लिए वह सब कुछ करता है जो उसे जायज लगता है। इसलिए उसने हत्या करने से गुरेज नहीं किया। 


ऐसे ही नहीं बनी थी कवर गर्ल शैलजा 
शैलजा गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी में 5 साल लेक्चरर भी रह चुकी है। कैच एंड केयर एनजीओ के साथ उन्होंने कई सराहनीय कार्य किए और वह खाली समय में गरीब बच्चों को फ्री ट्यूशन पढ़ाया करती थी। दिसम्बर 2009 में उन्होंने आर्मी अफसर अमित से शादी की और इसके बाद गृहिणी के तौर पर वक्त बिताने लगी। शैलजा सिंगिग, डांसिंग, कुकिंग में बेहद एक्सपर्ट थी और उन्होंने कई अवॉर्ड भी जीते थे। अपनी वॉल पर शैलजा ने लिखा था कि उसे सपने देखना पसंद है और वह मानती है कि अगर कोई सपने नहीं देखता है तो वह हासिल नहीं कर सकता। इसलिए सपने देखो और उसे पुरा करने में जी जान से जुट जाओ। 


एक सीसीटीवी और शैलजा के मोबाइल ने खोल दी लव अफेयर की सारी कहानी
थाने में पहुंचते ही जब मेजर अमित ने अपनी पत्नी की लाश को देखा तो उसने सीधे तौर पर मेजर हांडा को हत्यारोपी बताते हुए गिरफ्तार करने के लिए कहा। पहले तो पुलिस को शक हुआ कि कहीं अमित ने ही पत्नी की हत्या की हो और ड्रामा कर रहा हो, लेकिन जब पुलिस ने अमित की बातों पर आर्मी अस्पताल के बाहर लगे सीसीटीवी को खंगाला तो एक सिल्वर रंग की होंडा सिटी कार में शैलजा और हांडा को एक साथ बैठे देख सारा माजरा समझ गए। क्योंकि शैलजा इसी कार में अमित के बताए गए चेहरे वाले व्यक्ति के साथ जाती दिखी थी। पुलिस ने हांडा के मोबाइल के व्हाट्सएप को चैक किया तो सारी कहानी खुल कर सामने आ गई। 

अगर ब्लैकमेलिंग की बात नहीं कहता तो नहीं आती शैलजा
प्यार और जंग में सब जायज है, शायद शैलजा की मौत का कारण भी यही बना। एक मेजर जिसे केवल जीतना सिखाया जाता है और जब वह नाकाम होता है तो टूट जाता है और दोबारा उसी जंग को जीतने के लिए वह कोई भी कीमत चुका सकता है। दो मेजरों के बीच फंसी शैलजा की भी यही कहानी थी जिसका नतीजा ये रहा कि न तो शैलजा अपने पति मेजर अमित के साथ रह सकी और न अपने प्रेमी निखिल हांडा की हो पाई। 

पुलिस ने इन कारणों से खोला केस 
-आखिरी बार शैलजा कार में एक शख्स के साथ दिख रही थी तो वह निखिल हांडा था
-वीडियो के मुताबिक शैलजा आराम से बैठ कार में जा रही है, यानी जोर जबरदस्ती जैसी बात नहीं थी। 
-जब अमित ने लव अफेयर की बात को बताया तो पुलिस ने जांच को उसी आधार पर शुरू किया। 
-हत्या स्नीफर नाइफ से की गई, ये नाइफ अक्सर आर्मी में अधिकारी अपने पास रखते हैं, इसलिए पुलिस का शक और बढ़ गया। 


छह पुलिस कर्मियों की टीम कर रही थी तलाश, लगातार बदल रहा था लोकेशन
मेजर निखिल के बारे में जानकारी मिलते ही छह पुलिस कर्मियों की टीम बनाकर उसके मोबाइल लोकेशन के आधार पर तलाश शुरू कर दी। पर वह लगातार अपना लोकेशन बदल रहा था। पहले तो मेजर निखिल अपनी कार में दिल्ली-दिल्ली एनसीआर में ही घंटों इधर-उधर चक्कर काटता रहा। इस बीच उसने कई बार अपना मोबाइल स्विच ऑफ भी कर लिया। पर उसका अंतिम लोकेशन दरौला मेरठ कैंट मिला। साथ ही पुलिस को यह भी सूचना मिली कि जो सिल्वर रंग की कार सीसीटीवी में नजर आई थी वह भी मेरठ कैंट में देखी गई है। इसके बाद पुलिस टीम ने मेरठ कैंट पहुंच स्थानीय लालकुर्ती थाना पुलिस और सेना पुलिस से संपर्क कर उसे कैंट से दबोच लिया। 

हांडा पत्नी से भी खा चुका था लव में धोखा
बताया जाता है कि हांडा एक तलाकशुदा मेजर है, उसकी पत्नी से एक बेटा है। पुलिस के मुताबिक हांडा की पत्नी का भी किसी से लव अफेयर था जिसके कारण उसका तलाक हुआ था। 2012 में वह बीमार भी हुआ था लेकिन जब से शैलजा उसके जीवन में आई थी तो वह ठीक हो गया था। उसे लगने लगा था कि उसके बेटे को एक मां मिल गई है और अब वह शैलजा को किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ेगा। लेकिन जब अमित को इस बात का पता चला और वह दिल्ली आया तो हांडा फिर से बीमार हो गया। उसका माइग्रेन लगातार बढऩे लगा जिसका इलाज कराने के लिए ही वह दिल्ली आया था। 

Related Stories:

RELATED फेसबुक पर विज्ञापन देना होगा महंगा, कंपनी ने बढ़ाए रेट