शारीरिक सेहत के साथ-साथ मेंटल हेल्थ का ख्याल रखना बेहद जरूरी

विशेषज्ञों के मुताबिक हमारी जिंदगी के 90,000 घंटे ऑफिस में काम करते हुए बीतते हैं। ऐसे में शारीरिक सेहत के साथ-साथ मेंटल हेल्थ का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। काम के दौरान कई बार ऐसा होता है जब चिंता या असहजता की भावना वर्कप्लेस पर आप पर हावी हो जाती है। इस वक्त अपनी संवेदनाओं के साथ तालमेल बिठाना बेहद जरूरी है।  हमें अपनी संवेदनाओं को दबाना नहीं चाहिए बल्कि प्रोफेशनल्स के लिए जरूरी है कि वे खुद को लचीला रखें और अपने दिल और दिमाग दोनों को ट्रेनिंग दें। यहां कुछ तकनीकें दी गई हैं जो प्रोफेशनल लाइफ में तनाव से दूर रखने और तरक्की हासिल करने में आपके काम आएंगी।

अपने इमोशंस को समझें  
अगर आप अपसेट हैं तो गहरी सांसें लीजिए। विज्ञान के मुताबिक जब हम अपसेट होते हैं तो शरीर फाइट या फ्लाइट मोड में चला जाता है, यानी हम ज्यादा रिएक्टिव होते हैं। ऐसे में अपनी संवेदनाओं से सामंजस्य बिठाना तनाव को दूर करेगा।

सपोर्ट को महसूस करें 
जब नर्वस हों या किसी काम की चिंता कर रहे हों तो अपना अटेंशन अपने पैरों पर लाएं। अपने पैरों को जमीन पर टिकाएं और उससे मिलने वाले सपोर्ट को महसूस करें, जिस कुर्सी पर बैठे हों उसके सपोर्ट को महसूस करें। यह आपको फिक्र से बाहर निकलने और खुद को शांत महसूस करवाने में काम आएगा।

Related Stories:

RELATED 1 मुट्ठी मूंगफली देगी सर्दियों में 8 जबरदस्त फायदे