CBSE के पैटर्न पर होगा हरियाणा बोर्ड परीक्षाओं का मूल्यांकन: पीके दास

चंडीगढ़ (धरणी): हरियाणा स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने बताया कि प्रदेश में स्कूली परीक्षाओं का मूल्यांकन सीबीएसई के पैटर्न पर करने जा रहे हैं, ताकि परीक्षार्थी ने प्रश्न का जितना भी सही उत्तर लिखा हो उसके अंक दिए जा सके। दास आज यहां हरियाणा सिविल सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में मीडिया से बातचीत कर रहे थे।



उन्होंने बताया कि हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी की वैबसाइट पर बोर्ड परीक्षाओं के पिछली तीन परीक्षाओं के प्रश्न-पत्र अपलोड किए गए हैं, ताकि विद्यार्थी उनको हल करके परीक्षा के पैटर्न को जान सकें तथा रिविजन भी कर सकें। उन्होंने बताया कि बोर्ड परीक्षाओं में जिन स्कूलों का जीरो से लेकर 10 प्रतिशत तक परीक्षा परिणाम आया है, उन स्कूलों के साथ बैठक करके आगामी परीक्षाओं में परिणाम को बेहतर बनाने के दिशा-निर्देश दिए गए हैं।



उन्होंने अध्यापकों, अभिभावकों एवं समाज के प्रबुद्घ लोगों से आह्वान किया है कि वे स्कूली परीक्षाओं में नकल रोकने में अपना योगदान दें तथा वे विद्यार्थियों को भी नकल जैसी कुरीति से दूर रहने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा समाज के लोगों को साथ लेकर नकल के खिलाफ मुहिम छेड़ी जाएगी। उन्होंने विद्यार्थियों से परीक्षाओं के लिए तनावमुक्त होकर तैयारी करने का आह्वान करते हुए कहा कि दिन-रात अधिक से अधिक पढऩा मायने नहीं रखता, बल्कि टाइम-टेबल बनाकर शारीरिक एवं मानसिक क्षमता के अनुसार ध्यान केंद्रित करके पढऩा फायदेमंद रहता है।

उन्होंने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा अध्यापकों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वे पढ़ाई में कमजोर विद्यार्थियों के साथ तालमेल बनाकर योजनाबद्घ तरीके से उनकी तैयारी करवाएं ताकि उनमें परीक्षा का भय व्याप्त न रहे। उन्होंने बताया कि अध्यापक को किसी विद्यार्थी को यह कभी नहीं कहना चाहिए कि ये काम तुमसे नहीं होगा, इससे कई बार विद्यार्थी हतोत्साहित होकर अपनी पढ़ाई छोड़कर नकल का जुगाड़ करने लग जाता है।

Related Stories:

RELATED सी.बी.एस.ई. 12वीं बोर्ड की परीक्षा 15 से आरंभ