ये है आज के दौर में  तेजी से उभरते  करियर विकल्प

नई दिल्ली : हर किसी के लिए उसके जीवन में करियर बहुत महत्वपूर्ण होता है।  क्योंकि करियर को लेकर लिया गए एक फैसले पर आपका सारा जीवन टिका होता है। पहले लोग 10वीं, 12वीं के बाद करियर के बारे में सोचना शुरु करते थे , लेकिन अब  तो आठवीं पास करते ही बच्चे को कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी के लिए किसी बड़े कोचिंग इंस्टिट्यूट में भेज दिया जाता है। आज के समय में करियर के बहुत सारे विकल्प खुल गए है। पहले तो अधिकतर स्टूडेंट्स को सिर्फ इंजीनियर, डॉक्टर या आईएएस ही बनना होता था। लेकिन अाज एेसा नहीं है। वही अब तो साल दर साल नए करियर ऑप्शंस उभर रहे हैं। आइए जानते है कुछ एेसे ही करियर विकल्पों के बारे में  

डाटा साइंटिस्ट
यह एक बिल्कुल नए तरीके का करियर विकल्प है, लेकिन आईटी से लेकर स्टेटिस्टिक्स की फील्ड से जुड़े युवा तेजी से इसकी ओर आकर्षित हो रहे हैं। आजकल कंपनियां रिसर्च व एनालिसिस पर ज्यादा फोकस करने लगी हैं और डाटा माइनिंग के जरिए अपने कस्टमर्स को समझने पर जोर दे रही हैं। 2020 तक ही इस एरिया में काफी बूम आने की संभावना है।

साइकोलॉजिकल थेरेपिस्ट एवं मैरिज काउंसलर
आज के दौर में लोग डिप्रेशन व मानसिक बीमारियों को खुलकर स्वीकारने लगे हैं। इस वजह से साइकोलॉजिस्ट व थेरेपिस्ट की डिमांड बढ़ रही है और यह फुल टाइम प्रोफेशन बनता जा रहा है।इसके अलावा पहले दंपति अपने घर के झगड़ों को चारदीवारी से बाहर नहीं जाने देते थे और सबकुछ सहन करना ही अपना धर्म समझते थे। जबकि अब तलाक के मामले तेजी से बढ़ने लगे हैं और समाज में मैरिज कॉउंसलर्स की भूमिका बढ़ती जा रही है।

इंटरप्रेटर और ट्रांसलेटर
विभिन्न देशों के बीच बढ़ते व्यापारिक संबंधों व इंटरनेट के बढ़ते चलन की वजह से इंटरप्रेटर्स व ट्रांसलेटर्स की डिमांड में इजाफा हुआ है। इंटरप्रेटर मौखिक रूप से तो ट्रांसलेटर लिखित में अनुवाद करने का काम करता है। जिन्हें हिंदी व इंग्लिश के अलावा विदेशी भाषाओं का ज्ञान है, उनके लिए इस फील्ड में बहुत से अवसर है। सरकार से लेकर मल्टीनेशनल कंपनियों तक को विभिन्न विभागों के लिए ट्रांसलेटर्स व इंटरप्रेटर्स की जरुरत होती है।
PunjabKesari
फ़िज़ियोथेरेपिस्ट
फ़िज़ियोथेरेपिस्ट तो पहले भी हुआ करते थे। मगर अब अधिक तादाद में भारतीय इनकी सेवाओं के बारे में जागरूक होने लगे हैं। इसलिए आने वाले सालों में इनकी डिमांड तेजी से बढ़ने वाली हैं। फिजियोथेरेपी की फील्ड में कई तरह के करियर ऑप्शंस मौजूद हैं। फ़िज़ियोथेरेपिस्ट मरीज के दर्द को कम करने व अंगों को चलायमान बनाने में मदद करते हैं।

बायोमेडिकल इंजीनियर
देश में कई बड़ी यूनिवर्सिटीज बायोमेडिकल इंजीनियरिंग के कोर्सेस चला रही हैं। बायोमेडिकल इंजीनियर आर्टिफिशियल इंटरनल ऑर्गन्स, बॉडी पार्ट्स के रिप्लेसमेंट्स व मेडिकल प्रॉब्लम्स का पता लगाने वाली मशीने आदि डिज़ाइन करने का काम करते हैं। आज आर्टिफिशियलअंग पहले की तुलना में अधिक व आसानी से बनने लगे हैं, इसलिए इस फील्ड में भी बहुत स्कोप है।

एनीमेशन एंड ग्राफिक्स
डिजिटल रिवोल्यूशन की वजह से डिजिटल क्रिएटिविटी की फील्ड में युवा रूचि लेने लगे हैं। एनीमेशन एंड ग्राफिक्स  की फील्ड में यूआई/यूएक्स डिजाइनिंग, वेब डिजाइनिंग व कार्टूनिंग जैसे कई करियर ऑप्शंस हैं। फिल्म इंडस्ट्री में भी एनिमेटर्स को ज्यादा काम मिलने लगा है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!