'दीदी' की महारैली पर जेटली का तंज- 2019 का चुनाव मोदी VS विपक्ष की भीड़ के बीच

नेशनल डेस्कः वित्त मंत्री अरुण जेटली इन दिनों अमेरिका में इलाज करा रहे हैं लेकिन सोशल मीडिया पर उनकी सक्रियता बनी हुई है। जेटली ने अपने ब्लॉग के जरिए विपक्ष के गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि यह नरेंद्र मोदी बनाम विपक्षी अराजकता की लड़ाई है। जेटली ने ब्लॉग में लिखा कि आगामी लोकसभा चुनाव के लिए विपक्ष का गठबंधन नरेंद्र मोदी VS भीड़ है। '2019 का एजेंडा- मोदी बनाम अराजकता' नाम से लिखे लेख में कहा कि विपक्ष के इस गठजोड़ का सिर्फ एक ही मकसद है सत्ता में वापिसी करना न कि जनता के विकास के लिए कुछ करना। उन्होंने लिखा कि यह गठजोड़ सिर्फ विपक्ष का शोर मात्र है।


वित्त मंत्री ने कहा कि लोगों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल को लेकर न तो कई अंसतोष है और न ही निराशा। जनता पीएम मोदी के कामकाज से खुश है। उन्होंने कहा कि 2014 में नरेंद्र मोदी वंशवाद, जातिवाद की दीवार को गिराकर ही इस सत्ता में आए हैं और जनता और उन पर पूरा बरोसा भी है। केजरीवाल समेत विपक्षी नेताओं पर निशाना साधते हुए जेटली ने कहा कि ममता बनर्जी की महारैली में सिर्फ नकारात्मकता दिखी और मोदी को सत्ता से हटाने का संकल्प लेकिन जनता के लिए उसमें कुछ नहीं था।

जेटली ने लिखा कि ममता की रैली में शामिल 2-3 लोग ऐसे भी थे जो भाजपा के साथ काम कर चुके हैं। ये लोग सिर्फ अपनी निजी महत्वाकांक्षाओं के लिए ममता की रैली में शामिल हुए जिन्होंने कोई सकारात्मक विचार या संदेश नहीं दिया। जेटली ने बसपा सुप्रीमो मायावती पर भी निशाना साधते हुए कहा कि बहनजी का फंडा एकदम साफ है, पूरा जोर लगाओ, उनको लगता है कि जातीय समीकरण से ही जीता जा सकता है। किसी ने भी देश के लोगों की बात नहीं की सिर्फ अपने निजी स्वार्थों पर सभी का ध्यान था।

Related Stories:

RELATED जेटली ने कांग्रेस पर ली चुटकी, कहा- राष्ट्रीय सुरक्षा पर पढ़ाना पड़ रहा पाठ