चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर 7.5% से ऊपर निकल जाएगी: वित्त मंत्रालय

नई दिल्लीः चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 8.2 प्रतिशत आर्थिक वृद्धि दर हासिल होने से उत्साहित वित्त मंत्रालय ने आज उम्मीद जताई है कि पूरे वर्ष के दौरान आर्थिक वृद्धि का आंकड़ा 7.5 प्रतिशत से ऊपर निकल जाएगा। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने तिमाही की तेज आर्थिक वृद्धि दर का श्रेय सुधारों और राजकोषीय बुद्धिमता को देते हुए कहा कि जो प्रयास किए जा रहे हैं उनका देश को लाभ मिल रहा है और देश नव-मध्यम वर्ग का विस्तार होते हुए देख रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘वैश्विक उथल-पुथल के माहौल में भी चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में देश की आर्थिक वृद्धि दर 8.2 प्रतिशत रहना नए भारत की क्षमता दिखाता है।’’ आर्थिक मामलों के सचिव एस सी गर्ग ने अप्रैल- जून 2018 तिमाही के आंकड़ों पर टिप्पणी करते हुए कहा कि देश अविचल वृद्धि के रास्ते पर है। उन्होंने कहा कि पहली तिमाही में 8.2 प्रतिशत की आर्थिक वृद्धि से यह उम्मीद जगी है कि इस वित्त वर्ष में सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत के अनुमान से भी ऊपर निकल जाएगी। 

आर्थिक मामलों के सचिव ने यह भी कहा कि 2018- 19 में राजकोषीय घाटा जीडीपी के 3.3 प्रतिशत से ऊपर नहीं जाएगा। डॉलर के मुकाबले रुपए की गिरावट पर उन्होंने कहा कि यह जल्द ही 68 से 70 के दायरे में होगा। आज रुपया, डॉलर के मुकाबले 71 रुपए प्रति डॉलर के रिकार्ड निचले स्तर पर बंद हुआ। वित्त सचिव हसमुख अधिया ने कहा कि पहली तिमाही में 8.2 प्रतिशत की वृद्धि दर से इस बात के संकेत मिलते हैं कि माल एवं सेवा कर (जीएसटी) जैसे सुधारों ने फल देना शुरू कर दिया है। 
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED सरकार जल्द ही गैर-जरूरी वस्तुओं पर आयात प्रतिबंध की घोषणा करेगीः गर्ग