ब्रेकफास्ट में खाया दलिया नहीं होने देगा डायबिटीज- Nari

दिन की शुरुआत एक कटोरी दलिया से करें। चाहे तो राई से बनी ब्रेड भी खा सकते हैं। इससे आपके टाइप-2 डायबिटीज का शिकार होने का खतरा 34 फीसदी घट जाएगा। स्वीडन स्थित चार्मर्स यूनिवर्सिटी ऑफ टैक्नोलॉजी के हालिय अध्ययन  में यह सलाह दी गई है।

 

अनाज करता है ब्लड शूगर नियंत्रित रखने में मदद 
शोधकर्ताओं के मुताबिक दिन भर में 50 ग्राम साबुत अनाज(फिर चाहे वो गेहूं हो या राई, बाजरा,जौ और चावल) खाने से ब्लड शूगर का स्तर नियंत्रित रखने में मदद मिलती है। यह इंसुलिन की कार्य क्षमता बढ़ाने में भी कारगर है। उन्होंने टाइप-2 डायबिटीज से बचाव के लिए आटे से बनी खाद्य वस्तुओं के बजाय साबुत आहार का सेवन बढ़ाने की नसीहत दी।
PunjabKesari

लगातार 15 साल चला अध्ययन 
प्रोफैसर रिकर्ड लैंडबर्ग के नेतृत्व में लगातार 15 साल तक चले इस अध्ययन में 55,465 लोग शामिल हुए। सभी को अलग-अलग मात्रा में अनाज का सेवन करवाया गया। 

PunjabKesari
नसीहत
1. 55 हजार से अधिक लोगों पर अध्ययन के बाद स्वीडन के शोधकर्ताओं ने दी सलाह। 

2. 50 ग्राम समूचा अनाज रोजाना खाने से ब्लड शूगर नियंत्रित रखने में मिलती है मदद। 

3. 34 प्रतिशत पुरुषों और 22 प्रतिशत तक महिलाओं में घट जाता है। टाइप-2 डायबिटीज का खतरा। 


 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!