ई-रिक्शा, बैटरी चोरी करने वाले गिरोह के तीन सदस्य काबू

चंडीगढ़(सुशील): ट्राईसिटी में ई रिक्शा और बैटरी चोरी करने वाले गिरोह के तीन सदस्य को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपियों की पहचान पंचकूला के बुडऩपुर निवासी अकरम खान, खड़क मंगौली निवासी दीपक और सुनील के रूप में हुई। आरोपियों की निशानदेही पर 6 ई रिक्शा, एक ऑटो और 23 बैटरी बरामद हुई हैं। मौलीजागरां थाना पुलिस ने ई-रिक्शा और बैटरी चोरी के पांच केस सॉल्व करने का दावा किया है।

इनमें दो केस मौलीजागरां थाने के, एक केस आई.टी. पार्क थाने का और दो केस पंचकूला के हैं। मौलीजागरां थाना प्रभारी नरेंद्र पटियाल को सूचना मिली कि ई रिक्शा और बैटरी चोरी करने वाला गिरोह के तीन सदस्य मौलीजागरां में वारदात को अंजाम देने के लिए आ रहे हैं। सूचना मिलते ही पुलिस ने मौलीजागरां में नाकाबंदी कर गिरोह के तीन सदस्य को दबोच लिया। 


रात को करते थे रैकी
पूछताछ में आरोपी अकरम खान, दीपक और सुनील ने बताया कि वह घरों के बाहर खड़ी ई-रिक्शा चोरी करके उनकी बैटरी निकाल देते थे। ई-रिक्शा को लावारिस जगह पर खड़े कर देते थे। इसके बाद ई रिक्शा की बैटरी मनीमाजरा में स्क्रैप डीलर को बेचकर रुपए कमाते थे। उन्होंने बताया कि वारदात को अंजाम देने के लिए पहले रैकी करते थे। रात को तीनों सुनील के ऑटो में आकर वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते थे। उन्होंने बताया कि सुनील के ऑटो में चोरी की बैटरी लेकर जाते थे।

चोरी की 24 वारदात को अंजाम दिया
पुलिस ने बताया कि पकड़े गए चोर अकरम, दीपक और सुनील ने अलग-अलग काम बांट रखा था। अकरम खान और दीपक ई रिक्शा और बैटरी चोरी करते थे जबकि सुनील चोरी की गई बैटरियों को बेच देता था। पुलिस ने बताया कि करीब आरोपियों ने चोरी की 24 वारदातों को अंजाम दे रखा है लेकिन पांच ही चोरी के केस दर्ज हो रखे हैं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!