ड्रोन कर सकता है पक्षियों के झुंड को वायुक्षेत्र से सुरक्षित दूर हटाने में मदद

लंदनः  वैज्ञानिकों ने एक कलन विधि (अल्गोरिद्म) विकसित किया है जिसके जरिए ड्रोन को इस तरह उड़ाया जा सकेगा जिससे तय वायु क्षेत्र से पक्षियों के झुंड को बिना उनके समूह के गठन को भंग किए हटाने में मदद मिलेगी।

ब्रिटेन में इंपीरियल कॉलेज और अमेरिका में कैलिफोॢनया इंस्टीट्च्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के शोधर्किमयों ने राबोटिक ड्रोन के इस्तेमाल के जरिए एयरपोर्ट जैसे निर्धारित क्षेत्र से पक्षियों के झुंड को दूसरी ओर मोडऩे को लेकर अध्ययन किया। शोधर्किमयों की टीम ने पक्षियों के समूह की हरकतों और संकट के समय समूह के बर्ताव के गुणों के आधार पर एक अल्गोरिद्म तैयार किया। टीम ने दक्षिण कोरिया में निर्धारित वायु क्षेत्र में पक्षियों के झुंड को दूसरी ओर मोडऩे में सफलतापूर्वक अपने रोबोटिक ड्रोन का इस्तेमाल किया।


कोरिया एडवांस्ड इंस्टीट्च्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (केएआईएसटी) के एक प्रोफेसर डेविड हयानचुल शिम ने बताया कि निगरानी करते हुए यह देखना दिलचस्प और मजेदार रहा कि खतरे की स्थिति भांपकर परिंदे सामूहिक रूप से कैसा बर्ताव करते हैं। झुंड के बर्ताव और उनमें आपसी संवाद पर ध्यान रखा गया। इस तरह अल्गोरिद्म के जरिए ड्रोन का आदर्श रास्ता तैयार करने में सहायता मिली।  

Related Stories:

RELATED माइग्रेटरी बर्ड्स पर पड़ा लेक के वाटर लैवल का असर, 300 पक्षी मिले कम