Kundli Tv- क्या आप जानते हैं 75 बत्ती वाला दीपक जलाने से क्या होता है ?

ये नहीं देखा तो क्या देखा(video)
हिन्दू धर्म में किसी भी पूजा-पाठ का अंत दीपदान और आरती के बाद होता है। वैसे तो यह कभी भी किया जा सकता है लेकिन विशेष तिथि और नक्षत्र पर करना अधिक फलदायी होता है। तभी तो अपने देखा होगा खास अवसरों पर धार्मिक स्थलों, पवित्र सरोवरों और जलाशयों पर श्रद्धालुओं की भीड़ देखने को मिलती है। इसके अतिरिक्त एक माह में आने वाले दो पक्षों शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष में से शुक्ल पक्ष के दौरान किया गया दीपदान अधिक उत्तम होता है। शास्त्र कहते हैं दीप दान के माध्यम से अपनी इच्छाएं देवी-देवताओं तक पहुंचाई जाती हैं। हर कष्ट का अंत करता है दीपदान आईए जानें कैसे-


एक बत्ती का दीपक सामान्य लाभ के लिए लगाया जाता है। दो बत्ती का दीपक परिवार और रिश्तेदारों में प्यार और शांति लाता है। तीन बत्ती का दीपक संतान का साथ देता है। चार बत्ती का दीपक सुख-समृद्धि और वैभवशाली भोजन लाता है। पांच बत्ती का दीपक अखंड ऐश्वर्य या धन की बारिश करता है। छ: बत्ती का दीपक अखंड ज्ञान और वैराग्य का आशीर्वाद देता है।

शत्रुओं को मात देने के लिए 75 बत्ती वाले तेल के दीपक का दान करना चाहिए।

शत्रुओं का नाश करने के लिए पीली बत्तियों का प्रयोग करें।

हर तरह के सुख का भोग करने के लिए दीपक को पूर्वमुखी रखकर जलाना चाहिए।
जाना चाहते हैं विदेश अपनाएं ये टोटका(video)

Related Stories:

RELATED Kundli Tv- आज का पंचांग: 9 जनवरी, 2018