मन के मीत को अपना बनाने के लिए आज ही करें ये काम

ये नहीं देखा तो क्या देखा(video)
शादी को लेकर हंसी-ठिठोली में अकसर ये कहा जाता है की ये वह लड्डू है, जो खाए वो भी पछताए और जो न खाए वो भी पछताए। वास्तविकता की बात करें तो भारत में विवाह को एक महत्वपूर्ण संस्कार माना जाता है। इस संस्कार के बाद ही व्यक्ति गृहस्थाश्रम में प्रवेश करता है। प्राचीन भारतीय विद्वानों के अनुसार इस संस्कार के दो प्रमुख उद्देश्य हैं। मनुष्य विवाह करके देवताओं के लिए यज्ञ करने का अधिकारी हो जाता है और संतान उत्पन्न कर सकता है। विवाह योग्य उम्र होने पर भी विवाह तय न हो पा रहा हो तो ये उपाय करके आप सिंगल से कपल बन सकते हैं। यदि आप अरेंज की बजाय लव मैरिज करने की इच्छा रखते हैं तो मन के मीत को अपना बनाने के लिए भी किए जा सकते हैं ये काम।


वास्तु के अनुसार आपके आसपास रखी हर वस्तु का नेगेटिव और पॉजिटिव प्रभाव आपके व्यक्तित्व पर पड़ता है। यहां तक की आपकी अच्छी-बुरी आदते भी नवग्रहों की शुभता और अशुभता तय करती हैं। कुंवारों को कुछ बातों का खास ध्यान रखना चाहिए ताकि पॉजिटिव एनर्जी अनुकूल रहे जैसे

दक्ष‌िण और दक्ष‌िण-पश्च‌िम द‌िशा वाले रूम में सोना नहीं चाहिए।

बीम के नीचे बेड नहीं होना चाहिए।

कमरे में हल्का रंग होना चाहिए।

सोते वक्त पैर उत्तर और स‌िर दक्ष‌िण द‌िशा में रखें।

दक्षिण-पश्चिम दिशा में भूमिगत तालाब या टैंक होना शादी में देरी का बड़ा कारण है।

जिस कमरे में एक से अधिक दरवाजे होते हैं, कुंवारों को वहां नहीं सोना चाहिए। 

बिस्तर के नीचे लोहे का सामान नहीं होना चाहिए।

काले रंग की वस्तुओं और वस्त्रों को यूज न करें।

ज्योतिष के अनुसार भी कुछ उपाय किए जा सकते हैं- 
भगवान शिव पर काले तिल चढ़ाएं। शिव मंदिर में बैठकर ॐ गौरीशंकराय नमः अथवा ऊं श्रीं वर प्रदाय श्री नामः मन्त्र का जाप करें।

प्रेम का पूरा मामला शुक्र ग्रह पर र्निभर करता है। शुक्र मजबूत है तो रिश्ते बनेंगे। शुक्र को खुश करने के लिए इस मंत्र का जाप करें ॐ शुं शुक्राय नमः।

हर बुधवार श्री गणेश को मोदक का भोग लगाएं।
शाम को किया गया ये एक काम घर में पैसों की बाारिश कराता है(video)
 

Related Stories:

RELATED सुझाव के लिए मन की बात की भाजपा ने लगाई पेटी