Kundli Tv- शाम को करें हनुमान जी का ये उपाय, कट जाएंगे सारे संकट

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें Video)
मंगलवार का दिन हनुमान जी का दिन माना जाता है। इसके साथ ही यह भी मान्यता है अगर किसी भी शुभ कार्य को शुरू करने के लिए यह दिन बहुत अच्छा माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हनुमान जी को ऊर्जा के कारक देव मानें जातें हैं, इसलिए जब किसी इंसान पर किसी प्रकार का कोई संकट आता है तो उसे ऊर्जा की हानि होती है। इस हालात में अगर हनुमान जी को प्रसन्न कर लिया जाए तो बजरंगबली संकटमोचन का रूप धारण करके अपने भक्तों के समस्त संकटों का नाश कर देते हैं। तो यदि आप भी अपने संकटों और परेशानियों से मुक्ति पाना चाहते हैं तो मंगलवार के दिन ज्योतिष के कुछ उपायों को ज़रूर अपनाएं।


अगर हनुमान जी किसी की पूजा से खुश हो जाते हैं तो किस्मत बदल जाती है। ज्योतिषियों का मानना है कि हनुमान जी की पूजा करने से हर मनोकामना पूरी होती है और सभी तरह के कष्टों का निवारण होता है।

इस तरह करें पूजा
मंगलवार और शनिवार के दिन सुबह के समय एक धागे में चार मिर्चें नीचे और तीन मिर्चें ऊपर और बीच में नींबू पिरोकर घर और व्यवसाय के दरवाज़े पर लटका दें। ऐसा करने से घर में नकारात्मकता दूर होती है और घर में सकारात्मकता आती है।

शाम के समय राम मंदिर में जाकर हनुमान जी के श्री रूप के मस्तक का सिंदूर दाहिने हाथ के अंगूठे से लेकर सीता माता के चरणों में लगा दें। मान्यता है कि ऐसा करने से आपकी मनोकामना पूरी होगी।

हनुमान जी को खुश करने के लिए काले तिल, जौ का आटा और तेल मिला कर इसे गूंथ लें। इस आटे की रोटी बनाकर भैंसे को खिलाने से हनुमान जी खुश होते हैं।

अगर आपके बच्चे का स्वभाव ज्यादा चिड़चिड़ा हो तो मंगलवार और रविवार के दिन नीलकंठ का पंख लें। जिस बिस्तर पर बच्चा सोता है, उसके नीचे ये पंख लगा दें। लगाते समय हनुमान जी को याद करें। ऐसा करने से आपका बच्चा रोना बंद कर देगा। वहीं अगर रात में सोते समय बच्चे को डर लगता है तो मंगलवार या रविवार के दिन फिटकरी का एक टुकड़ा बच्चे के सिरहाने पर रखने से बच्चे को डर लगना बंद हो जाता है।

हनुमान जी को खुश करने के लिए मंगलवार की शाम को हनुमान जी के मंदिर में जाना चाहिए। मंदिर में जाकर केवड़े का इत्र व गुलाब की माला चढ़ाने से हनुमान जी खुश होते हैं।
रक्षाबंधन पर भाई को ऐसे बांधे राखी (देखें Video)

Related Stories:

RELATED Kundli Tv- क्या आप जपते हैं मंगलवार को ये मंत्र ?