Kundli Tv- इन Dates पर रुद्राभिषेक करने वाला बनता है शिव कृपा का भागी

ये नहीं देखा तो क्या देखा (देखें Video)
इसमें कोई संदेह नहीं कि किसी भी पुराने नियमित रूप से पूजे जाने वाले शिवलिंग का अभिषेक बहुत ही उत्तम फल देता है। यदि पारद के शिवलिंग का अभिषेक किया जाए तो बहुत ही शीघ्र चमत्कारिक शुभ परिणाम मिलता है। रुद्राभिषेक का फल बहुत ही शीघ्र प्राप्त होता है। विद्वानों ने इसकी भूरि-भूरि प्रशंसा की है। पुराणों में तो इससे संबंधित अनेक कथाओं का विवरण प्राप्त होता है। भस्मासुर ने शिवलिंग का अभिषेक  अपनी आंखों के आंसुओं से किया तो वह भी भगवान के वरदान का पात्र बन गया।
PunjabKesari
कालसर्प योग, गृह क्लेश, व्यापार में नुक्सान, शिक्षा में रुकावट सभी कार्यों की बाधाओं को दूर करने के लिए रुद्राभिषेक आपके अभीष्ट सिद्धि के लिए फलदायक है। किसी काम से किए जाने वाले रुद्राभिषेक में शिव वास का विचार करने पर अनुष्ठान अवश्य सफल होता है और मनोवांछित फल प्राप्त होता है।

PunjabKesari
प्रत्येक मास के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा, अष्टमी, अमावस्या तथा शुक्लपक्ष की द्वितीया व नवमी के दिन भगवान शिव, माता गौरी के साथ होते हैं, इस तिथि में रुद्राभिषेक करने से सुख-समृद्धि उपलब्ध होती है।

कृष्णपक्ष की चतुर्थी, एकादशी तथा शुक्लपक्ष की पंचमी व द्वादशी तिथियों में भगवान शंकर कैलाश पर्वत पर होते हैं और उनकी अनुकंपा से परिवार में आनंद-मंगल होता है।
PunjabKesari
कृष्ण पक्ष की पंचमी, द्वादशी तथा शुक्ल पक्ष की षष्ठी व त्रयोदशी तिथियों में महादेव नंदी पर सवार होकर सम्पूर्ण विश्व में भ्रमण करते हैं। अत: इन तिथियों में रुद्राभिषेक करने पर अभीष्ट सिद्ध होता है।
Kundli Tv- कैसे पराई महिला को करें वश में (देखें Video)

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!