दरिद्रता दूर करनी है तो बुधवार को न भूलें ये करना

ये नहीं देखा तो क्या देखा (Video)
हिंदू धर्म के अनुसार बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित होता है। माना जाता है कि अगर इस दिन भगवान गणेश की पूजा की जाए तो उनकी कृपा को पाया जा सकता है। शास्त्रों में भगवान गणेश को बुद्धि और चातुर्य के देव कहा जाता है। इनकी उपासना करके तीव्र बुद्धि और विद्या की प्राप्ति की जा सकती है। कहते हैं कि धन कमाने में भी बुद्दि और विवेक की आवश्यकता होती है जोकि गणेश जी की कृपा से आसानी से मिल जाती है। आज हम आपको वास्तु के अनुसार गणेश जी से जुड़े कुछ उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनसे कि आप अपने घर की दरिद्रता को दूर कर सकते हैं। 


वास्तु के अनुसार गणेश जी की हरे रंग की मूर्ति उत्तर दिशा की तरफ ही स्थापित करनी चाहिए और हर रोज़ सुबह 11 हरी पत्ती यानि दूर्वा गणेश जी को अर्पित करें। इसके बाद ॐ नमो भगवते गजाननाय का 108 बार जाप लाल आसन पर बैठकर ही करें।

कहते हैं रोज़ सुबह और शाम भगवान गणपति को पीले रंग के एक मोदक का भोग लगाना चाहिए और बाद में इस भोग को बच्चों में प्रसाद के रूप में बांट दें। इस उपाय को लगातार 11 दिन तक करने से लाभ मिलता है।

अगर किसी के घर में बरकत न हो तो गणेश जी की पीले रंग की मूर्ति पूर्व दिशा की तरफ स्थापित करें और साथ ही उनका पूजन रोली, मौली, चावल, धूप दीप करें और हरी दूर्वा अर्पित करें।

रोज़ प्रातः भगवान को पीले मोदक भोग लगाएं। ॐ हेरम्बाय नमः मन्त्र का लाल चंदन की माला से 108 बार जाप करें। इस उपाय को 27 दिन लगातार करने से ही लाभ मिलेगा। 
ज्योतिष के अनुसार इन जगहों पर मनाएं honeymoon, married life में कभी नहीं आएगी परेशानी(video)

Related Stories:

RELATED चाचा बना हैवान, 9 वर्षीय भतीजी से दरिंदगी की सारी हदें पार