Health Update: अब स्किन कैंसर पर दवा से ज्यादा टीका करेगा काम

कैंसर का इलाज ढूंढने में वैज्ञानिक हर संभव कोशिश कर रहे हैं। दुनिया भर में इसके मरीजों का संख्या लगातार बढ़ता जा रही है। कैंसर के कारण बहुत लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं हालांकि कैंसर के कई प्रकार है। इनमें से स्किन कैंसर भी के मरीजों की संख्या में भी लगातार बढ़ौतरी हो रही है। हाल ही में वैज्ञानिकों ने एक ऐसे अणु की पहचान की है जिसका इस्तेमाल त्वचा कैंसर के विरुद्ध प्रतिरोधक तंत्र की क्षमता बढ़ाने के लिए टीके में किया जा सकता है। 

 

दवा से ज्यादा टीका करेगा काम
पीएनएएस पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक टीके के जरिए डाइप्रोवोसिम नामक अणु को मिलाने से कैंसर के खिलाफ लड़ने वाली कोशिकाएं ट्यूमर की जगह पर आसानी से पहुंच सकती हैं। इस उपचार के जरिए मरीज के स्वस्थ होने की संभावना बढ़ जाती है, जिसका असर दवा नहीं दिखा सकती। अनुसंधानकर्ताओं ने इस टीके का प्रयोग उन चूहों पर किया जो पहले ही मेलानोमा से पीड़ित थे। 

PunjabKesari

स्किन कैंसर है मेलानोमा
मोलानोमा स्किन कोशिकाओं में कैंसर पैदा करने का काम करता है। जिसकी रोकथाम अब तक दवाइयों को जरिए की जा रही थी। रिसर्च इंस्टीट्यूट के प्रोफेसर डेल बोगर ने नए उपचार के बारे में कहा, 'यह सह उपचार मेलानोमा के इलाज में पूरी तरह असरकारी रहा।'

PunjabKesari

टीका दोबारा नहीं पैदा होने देगा कैंसर कोशिकाएं
शोधकर्ताओं को मुताबिक कैंसर या ट्यूमर की कोशिकाएं फिर से ऊभरने की कोशिश करती हैं। यह टीका प्रतिरोधक तंत्र को स्ट्रांग करके इन कोशिकाओं को कैंसर से लड़ने के लिए प्रेरित करता है। इस तरह काफी हद तक कैंसर से बचाव संभव हो जाता है। 

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED Health Update: स्किन और हाइट भी बनती है कैंसर की वजह - Nari