अमेरिका की चेतावनीः संवेंदनशील डाटा चुरा सकते हैं चीनी ड्रोन

न्यूयार्कःचीन से ट्रेड वार के चलते अमेरिका में हुवाई मोबाइल बैन करने के बाद अब चीन से आने वाले ड्रोन भी अमेरिका की आंखों में खटकने लगे हैं। यूएस डिपार्टमेंट ऑफ सिक्‍योरिटी ने चेतावनी दी है कि चाइनीज ड्रोन का इस्‍तेमाल अमेरिका के लिए खतरा बन सकता है। डिपार्टमेंट की तरफ से यहां तक कहा गया है कि यह ड्रोन संस्‍थान से संवेंदनशील जानकारी चुराने के अलावा राष्‍ट्रीय सुरक्षा में भी सेंधमारी कर सकते हैं। इसके लिए डिपार्टमेंट ने साइबर सिक्‍योरिटी से जुड़ी अन्‍य एजेंसियों को अलर्ट तक जारी किया है।


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अलर्ट में कहा गया है कि ड्रोन में लगे उपकरण जानकारी चुराकर अपने सर्वर पर भेज सकते हैं जिसकी कंपनी को भी कोई जानकारी नहीं लग सकेगी। इस बाबत जारी एक रिपोर्ट में यूं तो ड्रोन बनाने वाली किसी एक कंपनी का जिक्र नहीं किया गया है, लेकिन इतना जरूर कहा गया है कि अमेरिका में करीब 80 फीसदी और कनाडा में 74 फीसद ड्रोन डीजेआई कंपनी बनाती है, जिसका मुख्‍याल्‍य चीन के शेंजान में स्थित है। हाल के कुछ वर्षों में चीन से आने वाले ड्रोन की आमद का बढ़ना भी अमेरिका की चिंता का प्रमुख कारण बना हुआ है।

इसमें यह भी कहा गया है कि अमेरिका ऐसे किसी भी तरह के तकनीकी प्रोडेक्‍ट्स को लेकर काफी चिंतित है जो हमारी जानकारी चुराने की कोशिश कर सकता है और दूसरे देश का खुफिया तंत्र इस जानकारी का गलत इस्‍तेमाल अमेरिका के खिलाफ कर सकता है। आपको बता दें कि चाइनीज ड्रोन के खतरे की आशंका से घबराए अमेरिका के इस अलर्ट पर अंतिम मुहर राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने ही लगाई है। आपको याद दिला दें कि पिछले सप्‍ताह की ट्रंप ने एक एग्‍जीक्‍यूटिव ऑर्डर पर साइन कर चीन की हुवाई कंपनी को अमेरिका में प्रतिबंधित कर दिया था। उस वक्‍त भी ट्रंप ने कंपनी पर राष्‍ट्रीय सुरक्षा के खतरे की आशंका जताई थी। यहां पर ये भी ध्‍यान में रखना होगा कि ट्रेड वार के चलते दोनों देशों के व्‍यापारिक ही नहीं कूटनीतिक संबंध भी खतरे में पड़ गए हैं।

गौरतलब है कि चीन की कंपनी द्वारा बनाए गए ड्रोन पर पहली बार सवाल नहीं उठा है, बल्कि इससे पहले 2017 में अमेरिकी सेना ने चीनी कंपनी डीजेआई के ड्रोन प्रतिबंधित करने का मुद्दा उठाया था। इस दौरान सामने आई खुफिया विभाग की इंटरनल रिपोर्ट में तो यहां तक कहा गया था कि इन ड्रोन के निशाने पर अहम सरकारी दफ्तर तक हो सकते हैं।  DJI के ड्रोन के उपयोग को लेकर भी अमेरिका ने इसके उपभोक्‍ताओं को चेतावनी दी है। नए उपभोक्‍ताओं को यहां तक कहा गया है कि वह इसकी खरीद से पहले कुछ जरूरी उपाय करना न भूलें। इसमें इसके यूज के दौरान इंटरनेट का इस्‍तेमाल न करने और अपने डिजीटल कार्ड को सुरक्षित रखने की हिदायत दी गई है। इसके अलावा यह भी बताया गया है कि इसका इस्‍तेमाल किस तरह से किया जाए जिससे यह राष्‍ट्रीय और निजी सुरक्षा में किसी भी तरह की सेंधमारी न कर सके।

Related Stories:

RELATED अपराधियों और भ्रष्टाचारियों पर खट्टर के तीखे तेवर, गुरुग्राम में दी कड़ी चेतावनी