आगरा में प्रैस वार्ता के दौरान देवकी नंदन गिरफ्तार, थोड़ी देर बाद किया रिहा

आगरा:कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वह मंगलवार को आगरा में सवर्ण वर्ग के साथ एससी/एसटी एक्ट के विरोध में रणनीति बनाने के लिए आगरा में आए थे। थाना हरिपर्वत पुलिस ने उन्हें प्रैस वार्ता करने से पहले ही हिरासत में लेते हुए कहा कि आगरा में धारा 144 लागू है और देवकी नंदन ठाकुर के पास कोई परमीशन नहीं थी। गिरफ्तारी के बाद कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर ने कहा कि यह लोकतंत्र की हत्या है। गिरफ्तारी के कुछ घंटे बाद ही देवकीनंदन ठाकुर को रिहा कर दिया गया।

सवर्ण आंदोलन को धार देने आए थे देवकी नंदन
एससी/एसटी एक्ट को लेकर सवर्ण आंदोलन चल रहा है जिसमें ब्राह्मणों द्वारा इस एक्ट के विरोध में बड़ा प्रदर्शन किया गया था। आगरा के खंदौली स्थित सेमरा में ठाकुर समाज ने इस एक्ट का विरोध करने के लिए महापंचायत का ऐलान किया था जिसमें मंगलवार को कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर ने शामिल होने की घोषणा की थी लेकिन पुलिस प्रशासन ने देवकी नंदन ठाकुर को बैठक या पंचायत आदि की इजाजत देने से मना कर दिया था।

थाना हरिपर्वत पुलिस के साथ मौजूद सीओ रितेश कुमार सिंह ने कहा कि देवकी नंदन ठाकुर के पास मीटिंग की इजाजत नहीं थी। फिर भी उन्होंने आगरा में मीटिंग करने की कोशिश की। खबर लिखे जाने तक पुलिस उन्हें गिरफ्तार कर पुलिस लाइन ले जा रही थी। देवकी नंदन ठाकुर की गिरफ्तारी के बाद सर्व समाज में आक्रोश का माहौल है। वहीं देवकी नंदन ठाकुर ने कहा कि यह लोकतंत्र की हत्या है।

क्षत्रिय महासभा ने दी बड़े आंदोलन की चेतावनी
भागवताचार्य देवकी नंदन ठाकुर की गिरफ्तारी की खबर जैसे ही क्षत्रिय महासभा के पदाधिकारियों व सदस्यों को लगी तो उनमें आक्रोश फैल गया। बड़ी संख्या में क्षत्रिय सभा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता पुलिस लाइन पहुंचने शुरू हो गए। क्षत्रिय महासभा के महामंत्री ने कहा कि योगी सरकार लोकतंत्र की हत्या करने का काम कर रही है। देवकी नंदन ठाकुर की गिरफ्तारी पर चुप नहीं बैठा जाएगा और बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED विवादों में घिरे कथावाचक देवकी नंदन, मिली जान से मारने की धमकी