पुलवामा हमला: विरोध में बाजार बंद, चीनी सामान के बहिष्कार की भी मांग

नई दिल्लीः पुलवामा में हुए आतंकी हमले के खिलाफ सोमवार को दिल्ली-एनसीआर के सभी बाजार बंद रहेंगे। बाजारों में पिछले तीन दिनों से विरोध-प्रदर्शन जारी है और शहीदों के सम्मान में जगह-जगह सभाएं हो रही हैं। मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने के भारत के कूटनीतिक प्रयासों में चीन के अड़ंगे के बाद एक बार फिर देश में चाइनीज सामान के बहिष्कार की मुहिम छिड़ गई है। 

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने पूरे देश में बाजार बंद रखने का ऐलान किया है, जबकि दिल्ली में सभी स्थानीय संगठनों ने शटर गिराए रखने का फैसला किया है। चांदनी चौक में व्यापारियों की ओर से पाकिस्तान और चाइनीज सामानों का पुतला जलाया जाएगा। सदर बाजार, करोलबाग, गांधीनगर में भी मार्च और सभाएं होंगी।

देहली हिंदुस्तानी मर्केंटाइल असोसिएशन के वाइस प्रेसिडेंट श्रीभगवान बंसल ने बताया कि बाजार बंद कर व्यापारी जहां हमले के प्रति आक्रोश जताएंगे, वहीं सरकार पर इस बात के लिए दबाव बनाएंगे कि पाकिस्तान को आर्थिक मोर्चे पर ज्यादा से ज्यादा अलग-थलग किया जाए। व्यापारियों ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीनने और आयात पर ड्यूटी बढ़ाने का स्वागत किया है। 

CAIT ने कहा है कि मसूद अजहर को लेकर चीन के भारत विरोधी अड़ियल रुख के मद्देनजर देश में चाइनीज सामान के बहिष्कार का अभियान शुरू किया जाएगा और जल्द ही इस बारे में सभी असोसिएशंस के बीच इस बात के लिए सहमति बनाई जाएगी कि कोई भी व्यापारी अपनी दुकान पर चाइना निर्मित सामान नहीं बेचेगा। 

उधर, पाकिस्तान से आयात पर ड्यूटी 200 फीसदी तक बढ़ाए जाने से ड्राई फ्रूट्स, मसालों और कुछ अन्य खाद्य चीजों के बाजारों में पाकिस्तानी आयात लगभग बंद होने के आसार हैं। लेकिन व्यापारियों का कहना है कि इससे सप्लाइ या कीमत पर कोई असर नहीं पड़ने वाला। खारी बावली में इंडो-अफगान चैंबर ऑफ कॉमर्स के मेंबर और इम्पोर्टर राकेश जैन ने बताया कि पाकिस्तान से होने वाले आयात की हिस्सेदारी बहुत कम है और अब ड्यूटी इतनी ज्यादा होने के बाद कोई भी इसे अफोर्ड नहीं कर पाएगा। ट्रेडर यह मांग भी कर रहे हैं कि बाघा बॉर्डर से होने वाली कई खाद्य वस्तुओं का निर्यात भी बंद किया जाए। दिल्ली-एनसीआर के अलावा देश के सभी शहरों में बाजार और कमर्शियल गतिविधियां बंद रहने के आसार हैं। कई ट्रांसपोर्ट संगठनों ने भी अपनी बुकिंग और दफ्तर बंद रखने का ऐलान किया है। कुछ इलाकों में फैक्टरियां भी बंद रहेंगी।

Related Stories:

RELATED पुलवामा हमले के दुख में होली नहीं मनायेंगे राजनाथ