शिक्षा क्षेत्र में मॉडल और युवाओं को नौकरी देने का वादा

भोपाल: आम आदमी पार्टी ने मध्यप्रदेश में सरकार बनाने के लिये भाजपा व कांग्रेस का विकल्प बनने का दावा पेश करते हुए बुधवार को अपना घोषणा पत्र प्रस्तुत किया। पार्टी ने इसे शपथ पत्र का नाम दिया है। आप ने शपथ पत्र में प्रदेश के किसानों का संपूर्ण कर्ज माफ करने का वादा किया है। आप के प्रदेश प्रभारी और दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री गोपाल राय तथा आप के प्रदेश अध्यक्ष आलोक अग्रवाल ने यहां पत्रकार वार्ता में कहा, ‘‘मध्यप्रदेश की जनता को पहली बार आप के रूप में एक बेहतर विकल्प मिला है। सत्ता में आने पर हम दिल्ली मॉडल की तर्ज पर शिक्षा एवं स्वस्थ्य क्षेत्र में व्यापक सुधार करेंगे।’’      


कैबिनेट मंत्री अग्रवाल ने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में आप सरकार का दिल्ली मॉडल मध्यप्रदेश में लागू किया जायेगा। इसके तहत शहरों में मोहल्ला क्लिनिक और ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत अस्पताल के माध्याम से घर के पास मुफ्त दवाई, इलाज और जांच की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। लोगों को सभी प्रकार के आपरेशन की भी मुफ्त सुविधा दी जायेगी।     

 

उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में सभी को अच्छी, मुफ्त व घर के पास सरकारी शिक्षा सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिये सरकारी शालाओं को निजी शालाओं से बेहतर बनाया जायेगा। निजी शालाओं की मनमानी रोकी जायेगी और उनकी फीस को नियंत्रित किया जायेगा। आप के शपथ पत्र में किसानों का कर्ज माफी करने का वादा किया गया है। इसके साथ ही किसानों को सुबह 6 बजे से रात 12 बजे तक 18 घंटे तक मुफ्त बिजली दी जायेगी। स्वामीनाथन आयोग की सिफारियों को लागू करने का भी वादा किया है। आप ने बिजली के घरेलू उपभोक्ताओं को 400 यूनिट तक तथा औद्योगिक क्षेत्र में रात 10 से सुबह 6 बजे तक आधी दरों पर बिजली देने का वादा किया है।      

 

आठ पृष्ठ में 175 बिन्दुओं के शपथ पत्र में आप ने समाज के सभी वर्ग के हित में कुछ न कुछ वादा किया है। इसमें आप ने प्रदेश के युवाओं को अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध कराने उपलब्ध कराने के प्रयास किये जायेगें। 12 वीं पास बेरोजगार युवा को 1200 रुपये, स्नातक बेरोजगार को 2000 और स्नातकोत्तर बेरोजगार को 3000 रुपये का जीवन निर्वाह भत्ता देने का वादा किया गया है। आप ने महिला सुरक्षा के लिये वर्मा आयोग की सिफारिशों को लागू करने का वादा किया है। 

Related Stories:

RELATED इनेलो विधायक पार्टी से इस्तीफा दिए बगैर ही कर रहे दुष्यंत का प्रचार