IT विभाग तैयार कर रहा डाटा एंट्री ऑप्रेटर और वैब डिवैल्पर

चंडीगढ़(साजन) :प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत 30-30 के बैच के दो ग्रुपों में डाटा एंट्री ऑप्रेटर और वैब डिवैल्पर के तौर पर कार्यरत बेहतरीन युवाओं को चंडीगढ़ प्रशासन के विभागों में काम करने का मौका मिल सकता है। 

आई.टी. विभाग ट्रेनिंग ले रहे युवाओं की प्लेसमैंट तो नहीं देगा लेकिन प्लेसमैंट में मदद जरूर करेगा। विभाग ने बड़े स्तर पर युवाओं को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य बनाया है, जिसके लिए विभाग के डायरैक्टर अर्जुन शर्मा के नेतृत्व में काम भी शुरू कर दिया है। अभी आई.टी. विभाग दो बैचों को इसके तहत ट्रेनिंग दे रहा है। 

एक बैच में 30-30 उम्मीदवार हैं, जिन्हें डाटा एंट्री ऑप्रेटर और वैब डिवैल्पर की ट्रेनिंग दी जा रही है। ट्रेनिंग का मकसद ऐसे युवा तैयार करना है जो प्रशिक्षण हासिल कर सीधे रोजगार के लिए तैयार हो सकें। प्रशासन समेत अन्य तमाम सरकारी विभागों को डाटा एंट्री ऑप्रेटर और वैब डिवैल्पलपर्स की जरूरत रहती है। 

इन विभागों में जिस फार्मेट में काम होता है, वे सभी फार्मेट ट्रेनिंग में युवाओं को सिखाए जाते हैं। इसका फायदा यह रहता है कि अगर कुछ विभागों में सीधे युवाओं की एंट्री करवानी हो तो इन्हें नए सिरे से सिखाने की जरूरत नहीं पड़ती। केंद्र की ओर से जारी इस स्कीम के तहत चंडीगढ़ ने टारगेट तय किए हैं।

Related Stories:

RELATED प्रधानमंत्री आवास योजना : नहीं मिली मिनीस्ट्री की अप्रूवल, प्रोजैक्ट लटका