दाती महाराज नपुंसक तो नहीं! हो सकता है मर्दानगी का टेस्ट

नई दिल्ली(शाहरुख खान) : दाती मदन नपुंसक है या नहीं! ये तय करेगा कि बाबा को जेल होगी या वो निर्दोष साबित होंगे। क्राइम ब्रांच की जांच भी अब इस पर ही टिक गई है। इसलिए क्राइम ब्रंाच दाती मदन का पोटेंसी टेस्ट कराएगी। दूसरी तरफ दाती मदन से शुक्रवार को भी पूछताछ की गई जिसमें कई सवाले दागे गए, लेकिन इस बार भी अधिक  सवालों के जवाब वो नहीं दे पाए। यही नहीं शुक्रवार को हुई पूछताछ में दाती मदन फूट-फूट कर रोए और कहा कि वह एक नागा हैं, और उनका धर्म किसी भी लड़की से ऐसा करना नहीं स्वीकारता। दाती मदन से अब सोमवार को पूछताछ की जाएगी। कयास है कि सोमवार को कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट से पहले पुलिस अपनी फजीहत बचाने के लिए उन्हें गिरफ्तार कर सकती है। 


अपने वादे के मुताबिक दाती मदन क्राइम ब्रांच के दफ्तर सुबह 10 बजे पहुंचे जहां उनसे करीब 9 घंटे पूछताछ की गई। इस दौरान पूछताछ करने वाले ज्वाइंट सीपी आलोक कुमार खुद थे।  इसके अलावा डीसीपी राजेश देव, एसीपी जसबीर सिंह, इंस्पेक्टर रितेश कुमार समेत 20 पुलिसकर्मी भी मौजूद थे। वीडियोग्राफी के बीच हुई पूछताछ के दौरान उनसे तकरीबन 40-50 सवाल किये गए, जिनके मिले कुछ जवाबों से पुलिस संतुष्ट नजर नहीं आई। दाती मदन के अलावा शुक्रवार को उनके सहयोगियों और सौतेले भाइयों से करीब 7 घंटे पूछताछ की गई।  इस दौरान पुलिस को उनके और दाती मदन के बयानों में कुछ विरोधाभास नजर आया। 

दाती से पूछताछ के बाद क्राइम ब्रांच सचिन जैन और नवीन गुप्ता को भी नोटिस जारी कर जांच में शामिल होने के लिए बुलाएगी। इस केस के मद्देनजर कोर्ट में एक शिकायत दर्ज करायी गई जिसमें पुलिस पर मामले में कार्रवाई में देरी करने का आरोप लगाया गया। इस पर कोर्ट ने क्राइम ब्रांच के जांच अधिकारी से 21 जून तक स्टेटस रिपोर्ट तलब कर ली। दाती मदन से जब भी पीड़िता के साथ घटना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने हर जवाब में लेन देन और साजिश होना बताया। उन्होंने अपने दिए जवाबों में कहा कि आप बीते दो सालों की उन बातों के जबाव मांग रहे हो, जो उन्हें याद नहीं। जिस समय रेप हुआ या जिस समय यौन शोषण किया गया, वो कहा थे बता नहीं सकते। हालांकि शुक्रवार को दाती मदन ने कई दस्तावेज क्राइम ब्रांच को सौंपे जिसमें उन्होंने सचिन जैन और नवीन गुप्ता के कारनामों की जानकारी दी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि कुछ कॉल डिटेल है जिससे पता चलता है कि पीड़िता इन दोनों के संपर्क में है। 
दाती मदन पर राजस्थान के बाद दिल्ली महिला आयोग सख्त 
 दाती मदन केस में वीआईपी ट्रीटमेंट देने और पुलिस के द्वारा लापरवाही बरतने के मामले में दिल्ली महिला आयोग ने क्राइम ब्रांच के डीसीपी को समन जारी कर 25 जून दोपहर दो बजे से पहले पेश होने को कहा है। आयोग ने भेजे गए नोटिस में कहा है कि गंभीर आरोपों के बावजूद आरोपी दाती मदन को गिरफ्तार नहीं किया गया। जबकि इस संबंध में आयोग क्राइम ब्रांच को 14 जून को नोटिस जारी कर चुकी है। इस मामले में शाखा को 48 घंटे में जवाब देने को कहा गया था। आयोग ने पाया कि पुलिस की ओर से इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी गई।   

महिला आयोग ने पुलिस को दी परिणाम भुगतने की चेतावनी
आयोग ने पाया कि अब तक आरोपी दाती मदन को गिरफ्तार नहीं किया गया है। साथ ही एक समय सीमा दिए जाने के बावजूद आयोग द्वारा मांगी गई जानकारी प्रदान करने में क्राइम ब्रांच कार्यालय असफल रहा है। इस कारण से ही अपराध शाखा को समन जारी किया गया है। उल्लेखनीय है कि इस मामले में अपराध शाखा को नोटिस देकर पूछा गया था कि वह इस बात की जानकारी दें कि अब तक आरोपी को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया है।
 

अनुपस्थित रहने पर कानून के अनुसार परिणाम भुगतने होंगे। 
 दिल्ली एवं पाली के आश्रम में जाकर छात्रा ने पुलिस को वह कमरे दिखाए, जहां कथित तौर पर बाबा ने उसके साथ यह घिनौनी हरकत की। इसके साथ ही उसने आश्रम से जुड़ी कई अहम जानकारियां भी पुलिस को दी। इन सभी जानकारियों के आधार पर ही पुलिस ने मंगलवार को दाती मदन से पूछताछ की थी। इस मामले को लेकर महिला आयोग ने भी डीसीपी को नोटिस भेजकर जवाब मांगा है।


 

Related Stories:

RELATED दिल्ली की सड़कों पर बिना VIP रूट के निकले पीएम मोदी, देखें Video