केरल: तबाही के बीच गूंजी शहनाई, दूल्हा-दुल्हन ने लिए सात फेरे

नेशनल डेस्क: बाढ़ की त्रासदी झेल रहे केरल के मलप्पुरम जिले के राहत शिविर में रह रही एक युवती आज शादी के बंधन में बंध गई। जल प्रलय के कारण राज्य में हजारों लोगों को बेघर होना पड़ा है। बाढ़ की वजह से 24 वर्षीय अंजू का घर डूब गया। इस वजह से उसे अपने परिवार के साथ प्राथमिक स्कूल में बने एक राहत शिविर में जाना पड़ा। 
PunjabKesari
आपदा के कारण शुरूआत में परिवार ने शादी टाल देने का विचार किया लेकिन राहत शिविर के अन्य लोगों ने उन्हें शादी कर लेने के लिए समझाया। वधू अंजू के एक रिश्तेदार ने कहा कि इसलिए, हमने बिना किसी ऐतराज के निकटवर्ती मंदिर में शादी रचाने का फैसला किया। वर शाइजू के परिवार को भी कोई आपत्ति नहीं थी। 

PunjabKesari
पारंपरिक लाल साड़ी पहने और गहना धारण किये अंजू सुबह में राहत शिविर से बाहर निकलीं और मंदिर की ओर बढ़ चली। चारों ओर बाढ़ के कहर के कारण इस जिले में एक जगह से दूसरे जगह तक आने-जाने में मुश्किलें बनी हुयी है लेकिन वर पक्ष किसी तरह वहां तक पहुंचने में सफल रहा और यह शादी संपन्न हुई। राज्य में बाढ़ की विकराल स्थिति के कारण कई शादियां टल गयी है।           
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!