सुरक्षा के पुख्ता इंतजामों के बीच सुबह 8 बजे शुरू होगी मतगणना

लखनऊः लोकसभा चुनाव में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को लेकर सोशल मीडिया में भ्रामक प्रचार और विपक्षी दलों की बयानबाजी के बीच उत्तर प्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग ने 23 मई को होने वाली मतगणना की सभी तैयारियां पूरी कर ली है। राज्य निर्वाचन आयोग के सूत्रों अनुसार राजधानी लखनऊ समेत सूबे के अन्य जिलों में मतगणना सुबह 8 बजे सुरक्षा के चाकचौबंद इंतजामों के बीच शुरू होगी।

मतगणना के दौरान प्रत्याशी और उनके निर्वाचन अभिकर्ता के अलावा मतगणना एजेंट को ही मतगणना स्थल पर प्रवेश दिया जाएगा। मतगणना स्थल पर किसी को भी मोबाइल फोन, हथियार और कैमरा ले जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। राज्य की 80 संसदीय सीटों के लिए मतगणना का काम एक साथ शुरू होगा। लखनऊ में मतों की गणना रमाबाई रैली स्थल पर सम्पन्न होगी जबकि कानपुर में नौबस्ता गल्लामंडी में वोटों की गिनती का काम किया जाएगा।  लखनऊ के जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने बताया कि मतगणना स्थल पर कंट्रोल रूम में एक लैंडलाइन फोन स्थापित किया गया है। मतगणना के लिए नियुक्त अधिकारी एवं कर्मचारी के अलावा केवल प्रत्याशी, उनके निर्वाचन अभिकर्ता एवं उनके मतगणना एजेंट रमाबाई रैली स्थल परिसर के अंदर वैध पहचानपत्र के साथ प्रवेश कर सकते हैं।   

कानपुर में प्रेक्षक एवं नगर आयुक्त संतोष कुमार ने बताया कि बिना पास के किसी भी व्यक्ति को मंडी परिसर में नहीं दिया जाएगा। मतगणना में लगे कर्मियों के लिए ठण्डे पेयजल की व्यवस्था की गई है। मतगणना स्थल पर लगभग 1100 पुलिस कर्मी तथा पुलिस अधिकारियों को लगाया गया है। साथ ही सादी वर्दी में अलग से पुलिस कर्मियों को तैनात किया जाएगा। शामली में जिला निर्वाचन अधिकारी अखिलेश सिंह ने कहा कि मतगणना के लिए 14 टेबिल मतगणना कर्मियों व एक टेबिल आरओ की लगाई जाएगी। जिसमें सबसे पहले पोस्टर, ई-पोस्टर बैलेट पेपर तथा उसके बाद ईवीएम की मतगणना की जाएगी। सभी तीनों विधानसभा का हर चक्र एक साथ चलेगा। उन्होंने कहा कि सुबह 6 बजे नवीन मंडी में मतगणना स्थल पर अधिकारियों एजेंटों तथा कर्मचारियों का प्रवेश होगा।       

जौनपुर एवं मछलीशहर में मतगणना को लेकर चाकचौंबद इंतजाम किए गए हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी अरविंद मलप्पा बंगारी ने चौकियां मंडी समिति स्थित मतगणना स्थल का निरीक्षण किया। उन्होने बताया कि बगैर पास के किसी को भी मतगणना स्थल के भीतर जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। मछलीशहर के एक विधानसभा पिंडरा की मतगणना वाराणसी में होगी क्योंकि वह वाराणसी जिले में पड़ता है।

 

Related Stories:

RELATED घल्लूघारा दिवस को लेकर पुलिस ने किए कड़े सुरक्षा प्रबंध