जालंधर व चंडीगढ़ में वीजा अप्लाई करने वालों की गिनती देश में सर्वाधिक

जालंधर:देश में वीजा अप्लाई करने वाले प्रमुख केन्द्रों में जालंधर तथा चंडीगढ़ उभरकर सामने आए हैं। 2018 के आंकड़ों को अगर देखा जाए तो छोटे शहरों में वीजा के लिए वी.एफ.एस. ग्लोबल के पास आवेदन लगाने वाले लोगों की गिनती जालंधर व चंडीगढ़ में सर्वाधिक पाई गई है। 

जालंधर में वीजा आवेदन करने वालों की गिनती 2018 में 66 प्रतिशत तथा चंडीगढ़ में 54 प्रतिशत बढ़ी है। 2018 में देश भर में वी.एफ.एस. सैंटरों में वीजा के लिए आवेदन करने वालों की गिनती 52.8 लाख रही। वी.एस.एफ. के आंकड़ों से पता चलता है कि अब छोटे शहरों में वीजा आवेदन करने वालों की गिनती बढ़ रही है। जालंधर में 66 प्रतिशत, चंडीगढ़ में 54 प्रतिशत, पुड्डुचेरी में 44 प्रतिशत तथा गोवा में 45 प्रतिशत लोगों ने वीजा के लिए आवेदन दायर किए थे। इससे यह बात भी सामने आती है कि विदेश जाने के शौकीन लोगों में इसका रुझान हर वर्ष बढ़ता जा रहा है। 

अगर 2016 के आंकड़ों का 2018 के आंकड़ों से तुलनात्मक अध्ययन किया जाए तो पता चलता है कि वीजा आवेदन दायर करने वाले भारतीय लोगों की गिनती में 22 प्रतिशत की बढ़ौतरी हुई है। अंतर्राष्ट्रीय ट्रैवल लगातार बढ़ता जा रहा है, जबकि घरेलू वायु ट्रैवल में उतार-चढ़ाव देखने को मिलता रहा है। 2017 में 2.4 करोड़ भारतीय विदेशी दौरे पर गए थे, जोकि 2016 की तुलना में 9.5 प्रतिशत ज्यादा थे। अगर 2000 के आंकड़ों को देखा जाए तो विदेश जाने वाले भारतीयों की गिनती मात्र 44.2 लाख थी। 

अगर इसी तरह से विदेश जाने वाले लोगों की गिनती बढ़ती गई तो 2025 तक घूमने-फिरने के शौकीन लोगों की गिनती काफी चरम सीमा को छू जाएगी। देश में अब टायर टू सिटी से विदेश जाने वाले लोगों की गिनती बढ़ रही है। लोग विदेशी दूतावासों से वीजा लेने के लिए वी.एफ.एस. ग्लोबल के पास आवेदन दायर करते हैं जिसके पास पिछले कई वर्षों के आंकड़े मौजूद हैं।   

Related Stories:

RELATED चुनाव आयोग जल्द तय करेगा मतगणना में वीवीपीएटी की कितनी पर्चियों का मिलान किया जाए