जौनपुर धर्मांतरण मामलाः 4 पादरी गिरफ्तार, लापरवाही बरतने के आरोप में थानाध्यक्ष को हटाया

जौनपुरः  उत्तर प्रदेश में जौनपुर के चंदवक क्षेत्र में कथित धर्मांतरण के मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में थानाध्यक्ष को तत्काल प्रभाव से हटाया गया है। पुलिस अधीक्षक डीपी सिंह ने बुधवार को चंदवक थानाध्यक्ष शशिचंद चौधरी को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है। पुलिस ने धर्मांतरण में सक्रिय रहे चार पादरियों को भी गिरफ्तार कर लिया है। 

इसी मामले में चर्च के मुख्य संचालक दुर्गा यादव समेत 271 लोगों के खिलाफ दर्ज मुकदमें की विवेचना केराकत कोतवाल शशि भूषण राय को सौंप दी गई है। स्थानिय लोगों का आरोप है कि दुर्गा प्रसाद यादव के अंधविश्वास और जादुई पानी का यह कारनामा जब पहली बार 17 और 24 जुलाई को प्रकाश में आया था। इस मामले जब कुछ स्थानीय हिंदु संगठनों ने चंदवक थाने में तहरीर देकर मामला उठाया तो पुलिस ने नजरअदांज कर दिया था। अब न्यायालय के आदेश पर 271 लोगों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है।   

गौरतलब है कि जिले के थाना चंदवक के ग्राम भुलनड़ीह में गत 11 वर्षों से सक्रिय ईसाई मिशनरी ने जौनपुर ,आजमगढ़ और गाजीपुर आदि के 250 गांवों तक अपना मकड़ जाल फैला रखा था। स्थानिय लोगों का कहना है कि लगभग दस हजार से अधिक लोग प्रत्येक रविवार और मंगलवार को यहां प्रार्थना के लिए जुटते थे।   

Related Stories:

RELATED ईसाई मिशनरियों के हौसले बुलंद, युवती को अगवा कर परिवार पर धर्मांतरण का बनाया दबाव