अगले महीने आरंभ होगा विश्वस्तरीय अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थान का निर्माण कार्य

नई दिल्ली : अल्पसंख्यकों युवाओं के कौशल एवं शैक्षणिक विकास के मकसद से राजस्थान के अलवर में प्रस्तावित ‘विश्वस्तरीय अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थान’ का निर्माण कार्य अगले महीने की शुरुआत से आरंभ होगा और इसे 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक सितंबर महीने के पहले पखवाड़े में इस संस्थान की आधारशिला रखी जाएगी, हालांकि तरीख अभी तय नहीं हुई है। अलवर में इस संस्थान का निर्माण 100 एकड़ के क्षेत्र में होगा।      

 केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘‘यह विश्वस्तरीय अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थान होगा जिसमें मुख्य रूप से युवाओं के कौशल विकास एवं लड़कियों की शिक्षा पर ध्यान दिया जाएगा। इसके निर्माण कार्य को 2020-21 तक पूरा कर लिया जाएगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह अल्पसंख्यक मंत्रालय का संस्थान जरूर होगा लेकिन यह समाज के सभी वर्गों के युवाओं के लिए होगा। इसमें युवाओं को वाहन बनाने से लेकर विमान के विनिर्माण से जुड़ी तकनीक भी सिखाई जाएगी। कौशल विकास से जुड़े कई अन्य पाठ्यक्रम भी शुरू किए जाएंगे।’’ नकवी ने कहा, ‘‘इस विश्वस्तरीय संस्थान का प्रमुख लक्ष्य लड़कियों की शिक्षा पर जोर देना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार सभी वर्गों का ‘सम्मान के साथ सशक्तीकरण’ कर रही है। यह संस्थान भी इसी मूलमंत्र के साथ काम करेगा।’’      

 मंत्रालय की विश्व स्तर के पांच शैक्षणिक संस्थान खोलने की योजना है। मंत्री ने कहा कि चार अन्य संस्थान भी प्रस्तावित हैं और इनके लिए जमीन और दूसरी प्रकियाओं को लेकर काम चल रहा है।  विश्व स्तर के पांच शैक्षणिक संस्थानों की स्थापना के लिये 2016 में फैसला हुआ था। पूर्व आईएएस अधिकारी अफजल अमानुल्लाह के नेतृत्व में 11 सदस्यीय समिति का गठन किया गया था। इस समिति ने अपनी रिपोर्ट मंत्रालय को सौंपी जिसके बाद मार्च 2017 में इस महत्वाकांक्षी योजना पर अमल की प्रक्रिया शुरू हुई। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED जावड़ेकर ने कहा,पूर्व छात्रों की मदद ले सकते है शैक्षणिक संस्थान