हरियाणा विधानसभा में बेशर्मी की हदें पार, कांग्रेसी विधायक एक साल के लिए निलंबित

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): मॉनसून सत्र के तीसरे और अंतिम दिन विधायकों ने हरियाणा विधानसभा में बेशर्मी की सभी हदें पार कर दीं। दरअसल कांग्रेसी विधायक करण दलाल ने गरीबों के राशन कार्ड काटने का मुद्दा उठाते हुए सरकार पर हरियाणा को पूरे देश में कलकिंत करने की बात कही। दलाल के इस बयान के बाद बीजेपी विधायकों ने जोरदार हंगामा करना शुरू कर दिया। बीजेपी ही नहीं इस दौरान विरोधी दल इनेलो के नेता व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने भी दलाल के बयान की निंदा की और करण दलाल को सदन से निलंबित करने की मांग कर डाली।



इस दौरान करण दलाल और अभय चौटाला के बीच तीखी नोकझोंक हुई जिसके बाद दलाल ने जूता तक निकाल लिया। करण के जूता निकालते ही चौटाला भी आपा खो बैठे और वो भी जूता हाथ में लेकर करण की ओर बढ़ गए जिसके बाद सदन में तैनात मार्शलों ने बीचबचाव कर हुए स्थिति को काबू किया। 



इस पूरे घटनाक्रम के दौरान सदन में जोरदार हंगामा हुआ और सदन की कार्यवाही को 15 मिनट के लिए स्थगित कर दिया गया। सदन के दोबारा शरू होते ही वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने करण दलाल के निलंबन का प्रस्ताव पेश किया जिसे इनेलो के समर्थन के साथ सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया। प्रस्ताव पारित होने के साथ ही करण दलाल को एक साल तक के लिए विधानसभा से निलंबित कर दिया गया। दलाल का निलंबन कांग्रेस के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है। हालांकि भूपिंदर सिंह हुड्डा ने इस दौरान दलाल का समर्थन किया। 

Related Stories:

RELATED अभय चौटाला के बेटे ने बताया इनेलो में फूट डालने वाले कांग्रेसी का नाम