कांग्रेस की शिमला-मंडी में स्थिति साफ, हमीरपुर-कांगड़ा में अभी सहमति नहीं

शिमला: आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने सोमवार को दिल्ली में अपनी रणनीति तैयार की। हालांकि सोमवार को टिकट आबंटन के लिए कांग्रेस हाईकमान ने गठित स्क्रीनिंग कमेटी के सभी सदस्यों को दिल्ली बुलाया था लेकिन देर शाम तक यह बैठक नहीं हो पाई। सूत्रों के अनुसार पार्टी महासचिव एवं स्क्रीनिंग कमेटी के चेयरमैन वेणुगोपाल की अध्यक्षता में होने वाले स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक अब 29 मार्च को आयोजित की जाएगी, जिसके बाद ही अधिकारिक तौर पर प्रत्याशियों के नामों की घोषणा होगी।

आश्रय शर्मा को मंडी सीट से टिकट

सोमवार को दिल्ली कांग्रेस कार्यालय में स्क्रीनिंग कमेटी के सदस्यों के साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री पं. सुखराम और उनके पोते आश्रय शर्मा ने कांग्रेस ज्वाइन की है। इस मौके पर स्क्रीनिंग कमेटी के सदस्य हिमाचल कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल, सह प्रभारी गुरकीरत सिंह कोटली व नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्रिहोत्री सहित अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। मंडी सीट से आश्रय शर्मा को टिकट देने पर कांग्रेस हाईकमान ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। इसी प्रकार शिमला (आरक्षित) सीट से सोलन के विधायक कर्नल धनीराम शांडिल के नाम पर भी हाईकमान सहमत हो गया है।

भाजपा टिकट आबंटन के बाद रणनीति में किया बदलाव

सूत्रों के अनुसार कांग्रेस ने भाजपा टिकट आबंटन के बाद मंडी, कांगड़ा और हमीरपुर संसदीय सीटों के प्रत्याशियों को लेकर अपनी रणनीति में बदलाव किया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम के कांगे्रस में शामिल होने के बाद यहां से अब उनके पोते आश्रय शर्मा को टिकट दिया जाना तय माना जा रहा है। भाजपा ने जातीय समीकरणों को ध्यान में रखते हुए कांगड़ा संसदीय सीट से गद्दी समुदाय से संबंधित खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री किशन कपूर को चुनाव में उतारा है। इसका तोड़ कांग्रेस ब्राह्मण वर्ग से संबंधित पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा व जी.एस. बाली के साथ-साथ ओ.बी.सी. वर्ग से संबंधित विधायक पवन काजल के रूप में देख रही है।

कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में सबसे बड़ा वोट बैंक ओ.बी.सी. समुदाय का

कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में जातीय समीकरणों को देखें तो यहां सबसे बड़ा वोट बैंक ओ.बी.सी. समुदाय का है, उसके बाद गद्दी समुदाय से संबंधित वोटरों की संख्या आती है। यही कारण है कि भाजपा द्वारा खेले गए कार्ड को देख कांग्रेस को भी अब जातीय समीकरणों पर ध्यान देना पड़ रहा है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि स्क्रीङ्क्षनग कमेटी की बैठक अब 29 मार्च को आयोजित होगी। उन्होंने कहा कि सोमवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री पं. सुखराम ने दिल्ली में कांग्रेस का दामन थामा है। उन्होंने कहा कि जल्द ही पार्टी प्रत्याशियों की घोषणा कर दी जाएगी।

कांग्रेस नेताओं की सुरेश चंदेल के साथ बैठक

सोमवार दोपहर को जहां पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम ने अपने पोते के साथ कांग्रेस का दामन थामा, वहीं सूत्रों के अनुसार देर शाम कांगे्रस नेताओं ने पूर्व भाजपा सांसद सुरेश चंंदेल के साथ दिल्ली में बैठक की। कांग्रेस की प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल सहित अन्य नेता बैठक में मौजूद रहे। सूत्रों की मानें तो कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा भी सुरेश चंदेल की पैरवी कर चुके हैं, वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुरेश चंदेल को सरकार में किसी पद पर एडजस्ट करने का ऑफर दे चुके हैं।

हमीरपुर सीट से ये नेता भी टिकट की दौड़ में शामिल

हालांकि हमीरपुर सीट से पूर्व मंत्री रामलाल ठाकुर, पूर्व विधायक राजेश धर्माणी और युवा नेता अभिषेक राणा भी टिकट की दौड़ में शामिल हैं, जबकि वीरभद्र और मुकेश विरोधी गुट नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्रिहोत्री को हमीरपुर से चुनाव लड़वाने की कोशिशों में जुटा हुआ है। उधर, पूर्व सांसद सुरेश चंदेल ने कहा वे दिल्ली में मौजूद हैं तथा उनकी कांग्रेस आलाकमान से बात हुई है। उन्होंने इतना ही कहा कि फिलहाल मामला लटक गया है। इससे ज्यादा बोलने में सुरेश चंदेल ने कोताही बरती।

Related Stories:

RELATED कांग्रेस में भूचाल लाने की तैयारी में Mohinder Singh KP