कांग्रेस ने दो मौजूदा विधायकों पर खेला दांव, सामने नहीं लाई नए चेहरे

डेस्क: हरियाणा में होने वाले लोकसभा चुनाव ने कांग्रेस को प्रत्याशियों को चुनने में काफी माथापच्ची करा दी है। इस बार का लोकसभा चुनाव कांग्रेस के लिए न केवल भाजपा बल्कि जननायक जनता पार्टी, आम आदमी पार्टी व थोड़ा बहुत इनेलो से टक्कर मिलने वाली है। ऐसे में सही सीट पर उम्मीदवार चुनने में कांग्रेस अबतक काफी उलझी हुई थी। वहीं भाजपा ने तो कांग्रेस से 15 दिन पहले ही आठ सीटों के उम्मीदवारों की घोषणा कर दी थी।

लोकसभा चुनाव में पूरी रणनीति पर गहन विश्लेषण करने के बाद ही कांग्रेस के हाईकमान ने दो विधायकों भूपेन्द्र सिंह हुड्डा व कुलदीप शर्मा को लोकसभा के मैदान में उतारा है। बता दें कि भूपेन्द्र सिंह को सोनीपत सीट व कुलदीप शर्मा को करनाल सीट पर टिकट मिला है। यहां यह भी माना जा सकता है कि सोनीपत सीट पर कांग्रेस से  अगर कोई प्रभावी प्रत्याशी माना जा रहा था तो वे भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ही हैं, क्योंकि यहां हुड्डा का काफी प्रभाव है। वहीं सोनीपत में बीजेपी की तरफ से रमेश चंद्र कौशिक मौजूदा सांसद हैं, जिन्हें टक्कर देने के लिए हुड्डा को उतरा गया है। वहीं यह भी संभावना है कि जेजेपी सोनीपत सीट पर महिला पहलवान गीता फौगाट को उतार सकती है।

अगर लोकसभा चुनावों में नए चेहरों की तो बात की जाए तो कांग्रेस ने सिवाए हिसार सीट को छोड़कर कहीं और नए चेहरे दांव पर नहीं लगाए हैं। कांग्रेस ने हिसार सीट पर कुलदीप बिश्नोई के बेटे भव्य बिश्नाई को उतारा है। वहीं भाजपा ने इस बार यहां नए चेहरे पर दांव खेल ही लिया है। दरअसल, हिसार सीट पर दुष्यंत चौटाला का दबदबा माना जा रहा है, ऐसे में कोई पुराना चेहरा उतारने के बजाए भाजपा और कांग्रेस ने यहां नए चेहरों सामने लाए हैं।

Related Stories:

RELATED कांग्रेसी विधायकों के खिलाफ एंटी-इन्कम्बैंसी ने मुख्यमंत्री खेमे में मचाई हलचल