कांग्रेस का CM रावत पर आरोप- मुख्यमंत्री ने पत्नी के नाम औने-पौने दाम पर खरीदी जमीन

देहरादूनः उत्तराखंड में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह और रानीखेत से कांग्रेस विधायक करण माहरा ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि सीएम ने अपनी पत्नी के नाम पर सहस्त्रधारा रोड पर औने-पौने दामों में जमीन खरीदी है।

जानकारी के अनुसार, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और रानीखेत से कांग्रेस विधायक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाते हुए कहा कि सीएम पर उस इलाके में सरकारी धन से एक झील विकसित की गई है ताकि उनकी पत्नी और उनके साझीदार संजय गुप्ता की पत्नी के नाम से खरीदी गई जमीन की कीमत में रातों रात हजारों गुना वृद्धि हो सके। वहीं भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता मुन्ना सिंह चौहान ने इन आरोपों को सिरे से नकारते हुए कहा कि अगर यह आरोप साबित होते हैं तो वह और सीएम रावत अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सिंह और माहरा ने कहा कि सहस्त्रधारा रोड पर सूर्यधार क्षेत्र में मुख्यमंत्री की पत्नी सुनीता और उनके साझीदार संजय गुप्ता की पत्नी के नाम विभिन्न तिथियों में लगभग 16 बीघा जमीन औने पौने दामों पर खरीदी गई। उन्होंने कहा कि आखिरी जमीन की रजिस्ट्री 31 जुलाई, 2017 को हुई और इसके 6 महीने के अंदर क्षेत्र में सड़क, बिजली, पानी की व्यवस्था करने के साथ ही 25 दिसंबर, 2017 में वहां पर्यटन के लिए करीब 70 करोड़ रुपए की लागत से सूर्यधार झील विकसित करने की परियोजना का शिलान्यास कर दिया गया, जिससे उस जमीन की कीमत रातों रात बढ़ जाए।

मुख्यमंत्री पर अपनी निजी भूमि की कीमत बढ़ाने के लिए सरकारी धन के दुरूपयोग का आरोप लगाते हुए कांग्रेस नेताओं ने इस प्रकरण की जांच हाईकोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश से करवाए जाने की मांग की और कहा कि अगर इसमें मुख्यमंत्री दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए। प्रीतम सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री का भ्रष्टाचार के प्रति ‘जीरो टालरेंस' का नारा सिर्फ छलावा है और उनकी सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त है।

वहीं दूसरी तरफ भाजपा प्रवक्ता मुन्ना सिंह चौहान ने स्वीकार किया कि मुख्यमंत्री की पत्नी और गुप्ता की पत्नी के नाम सोरोंधार क्षेत्र में जमीन है। उन्होंने हालांकि कहा कि यह जमीन सूर्यधार झील से 25 किलोमीटर दूर है। चौहान ने सूर्यधार क्षेत्र में जमीन लिए जाने की बात को सिरे से नकारते हुए कहा कि अगर कांग्रेस के यह आरोप सिद्ध हो जाते हैं तो वह स्वयं और मुख्यमंत्री दोनों अपने पदों से त्यागपत्र दे देंगे।

Related Stories:

RELATED राहुल के नेतृत्व में कांग्रेस हार को जीत में बदल सकती हैः रावत