मोदी ने गांधी ''शांति पुरस्कार'' के विजेताओं को दी बधाई

नई दिल्लीःप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को वर्ष 2015, 2016, 2017 और 2018 के गांधी शांति पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी। मोदी ट्वीट कर कहा, ‘‘विवेकानंद केंद्र हमारे गांवों के विकास के लिए सराहनीय कार्य कर रहा है। शिक्षा और सामुदायिक सेवा को बेहतर बनाने की उनकी पहल ने कई लोगों, खासकर युवाओं को छुआ है। मैं विवेकानंद केंद्र को वर्ष 2015 का गांधी शांति पुरस्कार जीतने के लिए बधाई देता हूं।’’


उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘अक्षय पात्र फाउंडेशन के निर्धारित प्रयासों ने कई लोगों के लिए पौष्टिक भोजन सुनिश्चित कराया है। उनके उत्कृष्ट कार्य ने बहुत सारे बच्चों का विद्यालय जाना सुनिश्चित किया है। मैं वर्ष 2016 का गांधी शांति पुरस्कार जीतने पर अक्षय पात्र फाउंडेशन को बधाई देता हूं।’’

 


इसी तरह से प्रधानमंत्री एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘सुलभ इंटरनेशनल परिवार ने स्वच्छ भारत अभियान को काफी मजबूत बनाया है। सुलभ इंटरनेशनल की टीम बापू के स्वच्छ भारत के सपने को साकार करने के लिए जमीनी स्तर पर लगातार काम कर रही है। मैं सुलभ इंटरनेशनल को वर्ष 2016 का गांधी शांति पुरस्कार जीतने पर बधाई देता हूं।’’

 

 


उन्होंने एकल अभियान ट्रस्ट को बधाई देते हुए ट्विटर पर कहा, ‘‘शिक्षा सशक्तिकरण का एक मजबूत साधन है और एकल अभियान ट्रस्ट सुदूर क्षेत्रों में आदिवासी परिवारों के बच्चों को शिक्षा मुहैया कराने के लिए काम कर रहा है। साथ ही महिला सशक्तीकरण को आगे बढ़ाने में इस ट्रस्ट की भूमिका प्रशंसनीय है। मैं एकल अभियान ट्रस्ट को वर्ष 2017 गांधी शांति पुरस्कार जीतने के लिए बधाई देता हूं।’’

 

 


मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘योहेई सासाकावा जैसे व्यक्ति लाखों लोगों को प्रेरित करते हैं। वह कई परोपकारी पहलों में सबसे आगे हैं। उनकी दयालु प्रवृति को कुष्ठ रोग को खत्म करने के लिए किये गए काम के तौर पर देखा जा सकता है। मैं योहेई सासाकावा को वर्ष 2018 का गांधी शांति पुरस्कार जीतने के लिए बधाई देता हूं।’’


उल्लेखनीय है कि संस्कृति मंत्रालय ने बुधवार को एक विज्ञप्ति जारी कर विवेकानन्द केंद्र (कन्याकुमारी) को वर्ष 2015, सुलभ इंटरनेशनल को 2016, एकल अभियान ट्रस्ट को 2017 और योहेई सासाकावा को वर्ष 2018 के लिए गांधी शांति पुरस्कार देने की घोषणा की।

 

 

Related Stories:

RELATED ਪੁਲਵਾਮਾ ਹਮਲੇ ਤੋਂ ਬਾਅਦ Punjab-Jammu Border Seal , ਵਧਾਈ ਚੌਕਸੀ