CM कमलनाथ का साध्वी प्रज्ञा पर तंज, बोले शुक्र है प्रज्ञा ने नाथूराम गोडसे को देवता नहीं कहा

इंदौर: साध्वी प्रज्ञा द्वारा नाथू राम गोडसे पर दिए बयान से सियासी बवाल मचा हुआ है। जिस पर प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है। इसी क्रम में चुनावी प्रचार-प्रसार के बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने इंदौर में मीडिया से बातचीत की और साध्वी प्रज्ञा के इस बयान की कड़े शब्दों में निंदा की।
 

PunjabKesari

मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर द्वारा नाथूराम गोडसे के बारे में दिए गए बयान की निंदा की। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि "मैं साध्वी प्रज्ञा के बयान की सख्त निंदा करता हूं। शुक्र है उन्होंने यह नहीं कहा कि वह देवता थे। अभी तक उन्होंने कहा कि वह देश भक्त हैं। यह बयान बीजेपी की सोच का प्रतीक है। अब बीजेपी इसका खंडन करेगी। बीजेपी के बारे में यह सच्चाई हमारे हर देशवासी को पहचाननी चाहिए कि इनकी सोच में कितनी खोट है। उन्होंने आगे कहा कि मेरा मानना है कि हमारे राष्ट्रपिता के बारे में ऐसी बात कहने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होना चाहिए।

PunjabKesari

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रज्ञा के बयान को लेकर भाजपा पर तंज कसा। उन्होंने ट्वीट किया- अपने प्रत्याशी से दूरी बना लेना काफी नहीं है। भाजपा के राष्ट्रवादी दिग्गजों में अगर दम हो तो अपना नजरिया स्पष्ट करें।

PunjabKesari

गोडसे का महिमामंडन देशद्रोह है- दिग्विजय सिंह
दिग्विजय सिंह ने कहा- मोदीजी, अमित शाहजी और भाजपा की राज्य इकाई को इस पर अपना बयान देना चाहिए और देश से माफी मांगनी चाहिए। मैं इस बयान की निंदा करता हूं। नाथूराम गोडसे एक हत्यारा था। उसका महिमामंडन करना देशभक्ति नहीं है, यह देशद्रोह है।

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!