सीजेआई ने याचिकाकर्ताओं से कहा, व्यर्थ के मुकदमों से बचें

कटक: प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) दीपक मिश्रा ने रविवार को लोगों से अनुरोध किया वे महत्वहीन मुकदमे करने से बचें और विवाद को अन्य तरीकों से सुलझाने का भी प्रयास करें। अगले महीने सेवानिवृत्त हो रहे मिश्रा ने कहा कि मुकदमा दायर करने के लिए आपका स्वागत है। लेकिन व्यर्थ के मुकदमों से बचा जाए। हालांकि उन्होंने कहा कि अगर लोगों की चिंताएं स्वाभाविक है तो अदालतें मुकदमा दायर करने के लिए उनका स्वागत करती हैं। 

सीजेआई मिश्रा ने कहा, ‘‘मैं यह सुझाव नहीं दे रहा हूं कि आपको किसी वजह से नहीं लडऩा चाहिए। लेकिन जब वजह बहुत छोटी हो और अन्य तरीकों से उसे सुलझाया जा सकता है तो इसे सुलझा लीजिए। क्योंकि यह भी न्याय तक पहुंच के उद्देश्य को पूरा करता है।’’ मिश्रा ओडिशा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की स्थायी इमारत की आधारशिला रखने तथा राज्य के सभी 30 जिलों में विधि सहायता प्रतिष्ठान न्याय संजोग के उद्घाटन के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे।     

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!