चीन, पाक ने BRI पर मीडिया की खबरों को किया खारिज

बीजिंग-इस्लामाबादः  चीन और पाकिस्तान ने मीडिया की उन खबरों को खारिज किया है जिनमें कहा गया है कि प्रधानमंत्री इमरान खान की अगुवाई वाली नई सरकार बेल्ट और रोड पहले (बीआरआई) के तहत करार पर नए सिरे से बातचीत करना चाहती है। चीन ने कहा कि राष्ट्रपति शी चिनङ्क्षफग की इस विशेष परियोजना के प्रति पाकिस्तान की प्रतिबद्धता पर किसी तरह का संदेह नहीं किया जा सकता।

ब्रिटेन के अखबार फाइनेंशियल टाइम्स ने रविवार को प्रकाशित लेख ‘पाकिस्तान रिथिंक्स इट्स रोल इन शी बेल्ट एंड रोड प्लान’ में कहा गया है कि पाकिस्तान सभी चीजों को एक साल तक रोकना चाहता है ताकि वह इन पर आगे उचित तरीके से कदम बढ़ा सके। इस लेख में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के वाणिज्य, कपड़ा, उद्योग तथा उत्पादन पर सलाहकार अब्दुल रजाक दाऊद के हवाले से यह बात प्रकाशित की गई है। यह लेख चीन के विदेश मंत्री वांग यी की इस्लामाबाद यात्रा समाप्त होने के कुछ घंटों के बाद प्रकाशित हुआ है। इस रिपोर्ट के आने के बाद काफी शोर शराबा हो रहा है। खबरों में कहा गया है कि दाऊद ने यह भी कहा है कि चीन की कंपनियों को काफी कर रियायतें मिलती हैं। उन्हें पाकिस्तान में अनुचित लाभ मिलता है। 

हम इस पर गौर कर रहे हैं क्योंकि पाकिस्तान की कंपनियों को नुकसान नहीं होना चाहिए।  इस लेख को खारिज करते हुए चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने मंगलवार को कहा कि वांग की यात्रा के दौरान पाकिस्तान सरकार ने स्पष्ट कर दिया था कि चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) उसकी प्राथमिकता है। गेंग ने पाकिस्तान सरकार द्वारा इस रपट का खंडन किए जाने का हवाला देते हुए कहा कि पाकिस्तान चीन के संबंध टूटने वाले नहीं है। सीपीईसी को लेकर पाकिस्तान की प्रतिबद्धता पर किसी तरह का संदेह नहीं है।      
 

Related Stories:

RELATED पाक  ने दी सफाई-चीन  के सामने नहीं उठाया उइगर मुसलमानों का मुद्दा