वीडियोकॉन लोन मामला: चंदा कोचर और उनके पति पर सेबी कस सकती है शिकंजा

नई दिल्लीः बाजार नियामक सेबी देश में निजी क्षेत्र के प्रमुख बैंक आईसीआईसीआई बैंक की छूट्टी पर चल रहीं सीईओ चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर को पूछताछ के लिए जल्द तलब कर सकता है। एक अधिकारी ने रविवार को यह बात कही।

कोचर के खिलाफ बैंक के कारोबार में नियामकीय व्यवस्थाओं का अनुपालन न करने के आरोप में जांच चल रही है। सेबी कोचर दम्पति के अलावा इस बैंक और निजी क्षेत्र की कंपनी वीडियोकॉन के कुछ अधिकारियों को भी पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है। आरोप है कि वीडियोकान को चंदा कोचर के पति के साथ नजदीकी की वजह से बैंक से अनुचित लाभ लाभ मिला। इस मामले में कोचर और बैंक पर करोड़ों रुपए का दंड और अन्य पाबंदियां लग सकती हैं जिसमें शेयर बाजार में कारोबार करने और किसी कंपनी के निदेशक बनने पर रोक भी शामिल हो सकती है।

शीर्ष अधिकारियों के अनुसार, आईसीआईसीआई बैंक और कोचर परिवार के कारोबार को लेकर चल रही विभिन्न एजेंसियों की जांच पर सेबी के निदेशक मंडल की अगले सप्ताह होने वाली बैठक में चर्चा होगी। माना जा रहा है कि बैंकिंग प्रणाली के लिए इस मामले के महत्व को देखते हुए इसमें सेबी, आरबीआई और सरकार द्वारा तालमेल से प्रयास करने की आवश्यकता है। बैंक और कोचर अपने बयान पर कायम हैं कि उनकी ओर से किसी तरह का नियामकीय उल्लंघन नहीं हुआ है।

कोचर ने कहा कि उन्हें पति के कारोबारी लेनदेन के बारे में जानकारी नहीं थी। सेबी के निदेशक मंडल में उसके पूर्णकालिक सदस्यों और स्वतंत्र सदस्यों के अलावा वित्त मंत्रालय, कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय और रिजर्व बैंक के प्रतिनिधि शामिल हैं। आरबीआई और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय पहले ही इस मामले पर नजर बनाये हुए हैं।  
 

Related Stories:

RELATED ICICI की पूर्व सीईओ चंदा कोचर के परिवार को मिली 500 करोड़ की घूस, ED करेगी संपत्ति जब्त