इस बार ट्रांसजेंडरों का मतदान प्रतिशत रहा कम, भविष्य में सुधार होने की उम्मीद: CEO

नेशनल डेस्क: दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने कहा कि दिल्ली की सात लोकसभा सीटों में ट्रांसजेंडर मतदाताओं का मतदान प्रतिशत भले ही इस बार बहुत ज्यादा नहीं रहा हो लेकिन उम्मीद है कि भविष्य में चीजों में सुधार होगा। दिल्ली में 693 ट्रांसजेंडर मतदाता हैं और इनमें से 23.09 प्रतिशत ने 12 मई को वोट डाले।

पहली बार ट्रांसजेंडर समुदाय ने ‘तृतीय लिंग' की श्रेणी में वोट डाला। उच्चतम न्यायालय ने 2014 में इस श्रेणी की घोषणा की थी। सिंह ने कहा कि हमने उन मतदाताओं के लिए विशेष इंतजाम किये थे जो ट्रांसजेंडर होने की वजह से या बेघर या दिव्यांग होने की वजह से वंचित रहते थे। ट्रांसजेंडरों के लिए हमने कुछ एनजीओ की मदद से विशेष परियोजना चलाई। 

चांदनी चौक के जिला निर्वाचन अधिकारी ने उन्हें शामिल करने के लिए विशेष कार्यक्रम किया। उन्होंने बताया कि ट्रांसजेंडरों का मतदान प्रतिशत बहुत अधिक नहीं रहा लेकिन जागरुकता बढ़ी है और भविष्य में मतदान प्रतिशत तेजी से बढ़ेगा। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!