टैस्ट करियर का पहला शतक ठोकते ही पंत ने तोड़ा धोनी का रिकॉर्ड

जालन्धर : भारत और इंगलैंड के बीच द ओवल में खेले गए पांचवें टैस्ट में आखिरकार अब तब सीरीज में फेल चल रहे रिषभ पंत का बल्ला जमकर चला। आखिरी टैस्ट में जब भारत को जीत के लिए 464 रनों की जरूरत थी तो ऐसे समय में पंत ने केएल राहुल के साथ मिलकर पहले तो 200 रनों की पार्टनरशिप की। साथ ही साथ अपने टैस्ट करियर का पहला शतक भी ठोक दिया। छक्के के साथ शतक बनाने वाले पंत (114) ने इसके साथ ही महेंद्र सिंह धोनी का भी बड़ा रिकॉर्ड तोड़ दिया। दरअसल चौथी पारी में बतौर भारतीय विकेटकीपर सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड अब तक धोनी के नाम पर था।  धोनी ने 2007 में लॉड्र्स के मैदान पर इंगलैंड के खिलाफ नाबाद 76 रन बनाए थे। यही नहीं पंत ने अपनी पारी के दौरान कई और रिकॉर्ड बनाए। जानें कुछेक-

छठे विकेट के लिए की सर्वश्रेष्ठ पार्टनरशिप

केएल राहुल और रिषभ पंत ने छठे विकेट के लिए भारत की ओर से सर्वश्रेष्ठ पार्टनरशिप की। दोनों ने 204 रन जोड़े। उन्होंने ऐसा कर सचिन तेंदुलकर और नयन मोंगिया का रिकॉर्ड तोड़ा। सचिन और मोंगिया ने 1999 में चेन्नई के मैदान पर पाकिस्तान के खिलाफ छठे विकेट के लिए 136 रन की पार्टनरशिप की थी। 

चौथी पारी में बनाया तीसरा सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड

पंत ने अपनी पारी में 114 रन बनाया। यह चौथी पारी में किसी भी विकेटकीपर बल्लेबाज का तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इस लिस्ट में सबसे ऊपर ऑस्ट्रेलिया के विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट हैं। गिलक्रिस्ट ने 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ चौथी पारी में नाबाद 149 रन बनाए थे। इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर मोईन खान (117 विरुद्ध श्रीलंका) और तीसरे नंबर पर मैट प्रायर (113 विरुद्ध न्यूजीलैंड) भी शामिल हैं।

चौथी पारी में पहला शतक लगाने वाले 5वें बल्लेबाज बने पंत


पंत ने चौथी पारी में अपने करियर का पहला शतक लगाया। इससे पहले यह सीरीज अब्बास अली बेग ने शुरू की थी। अब्बास ने 1979 में इंगलैंड के खिलाफ मैच दौरान 112 रन बनाए थे। इसके बाद 1990 में सचिन तेंदुलकर ने, 2002 में अजीत अगरकर, 2006 में वसीम जाफर का नाम शामिल हैं। खास बात यह है कि भारत के पांचों प्लेयर ने यह पारियां इंगलैंड के खिलाफ ही खेली थीं। 

Related Stories:

RELATED रिषभ ने लगाया ताबड़तोड़ पचासा, भारत के दूसरे यंगेस्ट क्रिकेटर भी बने