कृत्रिम बुद्धिमता, योग जैसे नये विषय शुरू करेगा सीबीएसई

नई दिल्ली : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) आगामी अकादमिक सत्र से स्कूल पाठ्यक्रम में कृत्रिम बुद्धिमता (एआई), प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल शिक्षा एवं योग को नये विषयों के तौर पर शामिल करेगा। एक अधिकारी ने बताया कि इन तीनों विषयों को शामिल किए जाने का निर्णय बोर्ड के शासी निकाय की हालिया बैठक में लिया गया।

बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, सीबीएसई 2019-2020 सत्र से कक्षा नौवीं में कृत्रिम बुद्धिमता को वैकल्पिक छठे विषय के तौर पर शुरू कर रहा है। शिक्षण में बहुविषयक दृष्टिकोण को बढ़ावा देने और नयी पीढ़ी को संवेदनशील बनाने के लिए यह फैसला किया गया कि स्कूल कक्षा आठवीं में 12 घंटे का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ‘इंस्पायर मॉड्यूल’ शुरू कर सकते हैं।’’उन्होंने बताया कि बोर्ड ने योग एवं प्रारंभिक बाल्यावस्था देखभाल शिक्षा को उच्च माध्यमिक स्तर पर वैकल्पिक विषय के तौर पर शुरू करने का निर्णय किया है। 

Related Stories:

RELATED CBSE : छात्रों की कम रुचि वाले विषय किए जा सकते हैं बंद