सावधान! पंजाब में फिर मजबूत हो रहा है खालिस्तानी आतंकवाद

नई दिल्लीः (मनीष शर्मा) 15 अगस्त 1947 को भारत आज़ाद हुआ और उसके ठीक दो दिन बाद 17 अगस्त को भारत और पाकिस्तान के बीच बॅटवारे की लकीर खिच गई। पंजाब दो हिस्सों में बंट गया, पश्चिम पंजाब पाकिस्तान को मिला तो वहीं पूर्वी पंजाब भारत के हिस्से में आया यहां के पंजाब से पाकिस्तान को हमेशा अमन का सन्देश गया पर बदले में वहां के पंजाब से वो सभी चीज़ें निर्यात हुई जिससे पंजाब के साथ साथ पूरा भारत देश अस्थिर हो। शुरुआत सोने की स्मगलिंग से हुई जिसने बाद में आतंक , हथियार, नकली नोट और ड्रग्स के रास्ते खोल दिए। अब फिर से पाकिस्तान पंजाब में आतंकवाद को ज़िंदा करने की कोशिश कर रहा है।



फिर से पैर पसारता आतंकवाद :

  • 13 जून 2014: न्यूयोर्क स्थित खालिस्तान समर्थित सिख फॉर जस्टिस (SJF) ने 'रेफरेंडम 20-20 मुहिम' के समर्थन में पहली रैली की।
  • 6 जून 2015: ऑपरेशन ब्लूस्टार की बरसी पर पहली बार प्रसिद स्वर्ण मंदिर में देश विरोधी गुट ने  खालिस्तान के समर्थन में नारे लगाए।
  • 27 जुलाई 2015: आतंकियों ने गुरदासपुर में एक पुलिस स्टेशन पर हमला किया जिसमें गुरदासपुर एसपी और 3 आतंकवादी सहित 7 लोगों की मौत हो गई।
  • 2 जनवरी 2016: आतंकवादियों ने पठानकोट स्थित भारतीय वायु सेना के बेस पर हमला किया। इस हमले में 7 जवान शहीद हो गए और 6 आतंकी मारे गए।
  • 2016 से पंजाब के मोहाली, संगरूर, फतेहगढ़ साहिब, बरनाला, गुरदासपुर, पटियाला, मोगा, अमृतसर, होशियारपुर और तरनतारन में खालिस्तान औररेफरेंडम 20-20 के समर्थन में पोस्टर लगाने के कई मामले भी सामने आ रहे है।
  • 26 जनवरी 2018: पुलिस एनकाउंटर में मारा गया पंजाब का नामी गैंगस्टर विक्की गौंडर को लेकर भी  खुफिया जानकारी मिली कि विक्की गौंडर  रेफरेंडम20-20 के सफल बनाने के मुहीम में था।
  • 12 अगस्त 2018: सिख फॉर जस्टिस ने लंदन के ट्रैफलगर स्कवायर में रेफरेंडम 20-20 को कामयाब बनाने के लिए रैली की।
  • 15 सितम्बर 2018:  पंजाब के जालंधर जिले के मकसूदांं थाने में चार धमाके हुए।
  • 10 अक्टूबर 2018: पंजाब पुलिस व जम्मू कश्मीर पुलिस के संयुक्त ऑपरेशन में जालंधर के एक  इंजीनियरिंग कॉलेज से तीन कश्मीरी छात्र गिरफ्तार हुए।उनके पास से एके 56 और भारी मात्रा में  कारतूस बरामद हुए।
  • 2 नवंबर 2018: पंजाब की पटियाला पुलिस ने खालिस्तान गदर फोर्स के आतंकी शबनम दीप सिंह को गिरफ्तार किया।


भारत के थल सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने नवंबर के महीने में दो बार पंजाब की जनता को चेतावनी की कि पाकिस्तान पंजाब में आतंकवाद को ज़िंदा करने की कोशिशें कर रहा है। एक तरफ पाकिस्तान पंजाब के युवाओं को नशे का शिकार बनाने की चाल चल ही रहा है वही दूसरी तरफ फिर से आंतकवाद को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहा है।  बीते तीन सालों में पंजाब में  हिन्दू  संगठनों से जुड़े 6 नेताओं की हत्या कर दी गई है  और कईंयों पर जानलेवा हमला हुआ है ।



हिन्दू नेताओं की हत्या से माहौल बिगाड़ने की कोशिश

  • 23 अप्रैल 2016: खन्ना में शिवसेना नेता दुर्गा दास की हत्या कर दी गई।
  • 6 अगस्त 2016: जालंधर में आरएसएस के राज्य उपाध्यक्ष जगदीश गगनेजा को गोली मार दी गई।
  • 14 जनवरी 2017: हिन्दू नेता अमित शर्मा की लुधियाना में गोली मार कर हत्या की गई।
  • 17 अक्टूबर 2017: आरएसएस नेता रविंदर गोसाईं की गोली मार कर हत्या कर दी गई।
  • 30 अक्टूबर 2017: हिन्दू संघर्ष सेना के नेता विपन शर्मा को अमृतसर में गोली मार दी गई।




80 के दशक में पाकिस्तान समर्थित खालिस्तान आतंकवाद ने पंजाब में सिखों और हिन्दुओं के बीच नफरत की दीवार खड़ी करनेकी कोशिश की जिसमें 11 हज़ार 694 निर्दोष लोगों की जान गई जिसमें 60 प्रतिशत तो सिख ही थे। अभी भी समय है, पंजाब के लोगों को यह सुनिश्चित करना होगा कि पाकिस्तान समर्थितआतंकवाद फिर से पंजाब में हावी न हो पाए।

Related Stories:

RELATED पंजाब में पुन: अपने पैर पसार रहा आतंकवाद