मेले में खरीदें 2 रुपए की पुस्तक

नई दिल्ली: रविवार को रक्षाबंधन होने के बाद भी पुस्तक प्रेमियों के अंदर दिल्ली पुस्तक मेले में उपस्थिति दर्ज कराने व ढेरों किताबें खरीदने का उत्साह देखते ही बनता था। खासकर युवा वर्ग जोकि उच्च शिक्षा ले रहे हैं वो भारी संख्या में किताबें खरीदकर ले जा रहे हैं। वहीं सबके लिए आकर्षण का विषय 2 रुपए की किताब है जो कि पुस्तक मेले में सबसे सस्ती है, वहीं कई प्रकार की डिजिटल किताबों के प्रति भी पाठकों का खासा उत्साह देखने को मिला। 


बता दें कि पुस्तक मेले में रविवार के दिन भी हजारों की संख्या में पाठकों का जमावड़ा देखने को मिला। इतना ही नहीं रक्षाबंधन होने के बाद भी लोग परिवार सहित पुस्तक मेले में पहुंचे। यहां पवेलियन के बाहर बने परिसर में बकायदा परिवार नीचे बैठकर खाना खाते दिखाई दिए। ऐसा पुस्तक मेले के इतिहास में पहली बार देखने को मिला है। इन पाठकों के बीच जहां 2 रुपए की गीता प्रेस गोरखपुर की हनुमान चलीसा उत्सुकता का विषय बनी, पुस्तक मेले में आए लगभग सभी पाठकों ने इसे खरीदा। इतना ही नहीं यहां 16 भाषाओं में धार्मिक किताबें रखी गई हैं, जिनका मूल्य बहुत कम है। न्यू एजुकेशन को सपोर्ट करते हुए पुस्तक मेले में डिजिटल किताबों द्वारा बच्चों को ई-लर्निंग से जोडऩे का प्रयास भी काफी प्रभावी दिखाई दिया। कई गैजेट्स ऐसे देखने को मिले जो बोल कर, टीवी, कंम्पयूटर व लैपटॉप से कनैक्ट होकर छोटे बच्चों का ज्ञानवर्धन करने में सहायक होंगे।

 

 वहीं सम्यक प्रकाशन में जहां दलित, कबीर, बौद्ध, तिटिपक, रविदास, राहुल सांकृत्यायन, पालि साहित्य सहित भारत का संविधान खरीदते युवा वर्ग जुटे दिखाई दिए। यहां मात्र 350 रुपए में भारत का संविधान पाठकों के लिए उपलब्ध करवाया गया है। जबकि एनबीटी, प्रकाशन विभाग-सूचना और प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार की ओर से बनाए गए पवेलियन में सस्ती दरों पर बाल साहित्य खरीदते हुए छोटे बच्चे दिखाई दिए।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED बाजार में आया 100 रुपए का नया नोट, ऐसे करें असली और नकली की पहचान