ट्रंप की फटकार से टूटा कच्चा तेल

नई दिल्लीः अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तेल उत्पादक देशों के समूह (ओपेक) को कड़ी फटकार लगाई है। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि हम खाड़ी देशों को सुरक्षा देते हैं और हमारे बिना वे लंबे वक्त तक नहीं टिक सकते। इसके बावजूद ये लगातार क्रूड के दाम बढ़ाए जा रहे हैं जो हमें याद रहेगा। ओपेक साठ-गांठ न करे और तुरंत कच्चे तेल का दाम गिराए। ट्रंप ने ब्रेंट क्रूड का भाव 80 डॉलर के आसपास पहुंचने पर अपना गुस्सा जताया है।

इस ट्वीट के बाद कच्चे तेल की तेजी पर ब्रेक लग गई है और बेहद छोटे दायरे में कारोबार हो रहा है। नैचुरल गैस एक महीने में करीब 15 फीसदी उछल गया है। आज एमसीएक्स पर नैचुरल गैस में 8 महीने के ऊपरी स्तर से दबाव है।

ट्रंप ने यह ट्ववीट ऐसे समय पर किया है जब ओपेक और इसके सहयोगी देशों की बैठक होने वाली है। ओपेक और इसके सहयोगी तेल उत्पादक देश 23 सितंबर को अल्जीरिया में बैठक करने वाले हैं। इस बैठक में कच्चे तेल की सप्लाई को लेकर रणनीति बनाने पर चर्चा के आसार हैं। माना जा रहा है कि इस बैठक में ईरान से कच्चे तेल की सप्लाई घटने की संभावना के मद्देनजर बाजार में कैसे सप्लाई पूरी की जाए इस पर विचार किया जाएगा।

इससे पहले, ट्रंप ने ओपेक-खास कर अपने साथ सऊदी अरब को उत्पादन बढ़ाने और आयातकों को ईरान से तेल की खरीदारी रोकने या प्रतिबंध झेलने को तैयार रहने को कहा था। ओपेक के दो संस्थापक सदस्य देशों- ईरान और वेनेजुएला पर अमेरिका ने पाबंदी लगा रखी है। ईरान पर अमेरिका नए सिरे से 4 नवंबर से प्रतिबंध लगाने जा रहा है। अंतरराष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी के अनुसार ईरान का उत्पादन जुलाई 2016 के बाद निचले स्तर पर पहुंच गया है। भारत और चीन जैसे खरीदार ईरान से दूरी बना रहे हैं।

Related Stories:

RELATED ईरान से आपूर्ति कम होने की स्थिति से निपटने की पुख्ता तैयारी: सूत्र