JNU मामले को लेकर दिल्ली विधानसभा में हंगामा, भाजपा विधायकों को निकाला बाहर

नेशनल डेस्क: दिल्ली विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन उपराज्यपाल अनिल बैजल के अभिभाषण में बाधा पहुंचाने के लिये भाजपा विधायकों को सदन से बाहर निकाल दिया गया। विधायक जेएनयू मामले में अभियोजन में देरी को लेकर हंगामा कर रहे थे। विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने विधायकों से शांति बनाए रखने के लिये कहा। उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल का अभिभाषण सदन की कार्यवाही का हिस्सा नहीं है, लेकिन विधायकों ने उनकी नहीं मानी।    

जिन विधायकों को बाहर निकाला गया उनमें विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता, ओपी शर्मा और जगदीश प्रधान शामिल हैं। तीनों विधायक सदन के आसन के सामने पहुंच गए थे जिसके बाद गोयल ने उन्हें बाहर निकालने का आदेश दिया। विजेंद्र गुप्ता ने सरकार पर जेएनयू राजद्रोह मामले में आरोपियों के खिलाफ अभियोजन शुरू करने में देरी का आरोप लगाया।     

दिल्ली पुलिस ने जनवरी में जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार और अन्यों के खिलाफ 2016 के राजद्रोह मामले में आरोप पत्र दाखिल किया था। जेएनयू के पूर्व छात्रों उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य पर भी 9 फरवरी 2016 को विश्वविद्यालय परिसर में संसद हमले के मास्टरमाइंड अफजल गुरू की याद में रखे गए कार्यक्रम के दौरान कथित रूप से देश-विरोधी नारे लगाने के आरोप लगे थे।   दिल्ली पुलिस ने दिल्ली सरकार से इस मामले में अभियोग चलाने की अनुमति मांगी थी, जो अभी तक नहीं मिल पाई है।

Related Stories:

RELATED PM मोदी को अपशब्द कहने पर बुरे फंसे JNU छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार, केस दर्ज