ED को बड़ी सफलता, जाकिर नाइक का सहयोगी मुंबई से गिरफ्तार

नई दिल्लीःप्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को विवादास्पद इस्लामी उपदेशक जाकिर नाइक के एक ‘‘भरोसमंद’’ सहयोगी को मुंबई में गिरफ्तार कर लिया। यह गिरफ्तारी उसके तथा अन्य लोगों के खिलाफ दर्ज धनशोधन के एक मामले में की गयी है।

मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत किया गया गिरफ्तार
अधिकारियों ने बताया कि पेशे से जौहरी अब्दुल कादिर नजमुदीन साथक को धनशोधन निवारण कानून के तहत गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि साथक को ‘‘नाइक की सीधे तौर पर मदद करने, सांप्रदायिक आधार पर नफरत फैलाने और एक खास समुदाय को कट्टरपंथ की ओर उन्मुख करने के उद्देश्य से वीडियो बनाने और उनका प्रसारण करने के लिए संयुक्त अरब अमीरात से संदिग्ध स्रोत से आए धन का स्थानांतरण कर धन शोधन करने में उसकी सहायता करने में’’ भूमिका के लिए धनशोधन निवारण कानून के तहत गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि एजेंसी नए प्रमाणों के आधार पर जल्द ही एक नया आरोपपत्र दाखिल करेगी।

पीस टीवी चैनल का मालिक है नाइक
अधिकारियों का आरोप है कि साथक ने करीब 50 करोड़ रूपए सीधे नाइक को भेजे थे जिन्हें यह उपदेशक बाद में गैरकानूनी तरीके से बाहर ले गया। उन्होंने कहा कि नजमुदीन साथक ‘‘ग्लोबल ब्रॉडकास्टिंग कॉर्पोरेशन एफजीई एलएलसी’’ का निदेशक भी है जो नाइक के पीस टीवी चैनल की स्वामी कंपनी है। उसे मुंबई की एक विशेष अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा। बताया जाता है कि ‘ग्लोबल ब्रॉडकास्टिंग’’ पर नाइक का अपने भरोसेमंद सहयोगी साथक के माध्यम से ‘‘नियंत्रण’’ है।

प्रवर्तन निदेशालय का आरोप है ‘‘79 करोड़ रूपये की राशि ग्लोबल ब्रॉडकास्टिंग से मेसर्स हार्मनी मीडिया प्रा लि को मिली। लेकिन इस राशि से नाइक के विवादित उपदेशों के वीडियो बनाना और पीस टीवी के माध्यम से बड़ी संख्या में दर्शकों तक पहुंच पाना संभवन नहीं होता।’’ प्रवर्तन निदेशालय का दावा है कि ग्लोबल ब्रॉडकॉस्टिंग द्वारा हार्मनी मीडिया को भेजे गए कोषों का स्रोत ‘‘संदिग्ध’’ है क्योंकि इस चैनल पर कोई विज्ञापन प्रसारित नहीं किए जाते और साथक ने इस बारे में कोई ब्यौरा भी नहीं दिया है।

नाइक के खिलाफ 2016 से जांच चल रही है और केंद्र सरकार ने उसके इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन :आईआरएफ: को पांच साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। भारत आतंकवाद संबंधी गतिविधियों और नफरत भरे भाषणों के लिए वांछित नाइक के बारे में कहा जाता है कि वह 2016 में देश छोड़ कर मलेशिया चला गया और वहीं रह रहा है। 

Related Stories:

RELATED पुलिस की बड़ी सफलता, चरस और हैरोइन के साथ 6 गिरफ्तार