शहीद परिवारों को 1-1 करोड़ और वारिसों को गजेटिड अधिकारी की नौकरी मिले: भगवंत मान

नूरपुर बेदी(भंडारी):आम आदमी पार्टी के पंजाब प्रधान और लोकसभा मैंबर भगवंत मान ने गांव रौली में पहुंच कर शहीद कुलविन्द्र सिंह के अभिभावकों के साथ दुख सांझा किया। उन्होंने शहीद के पिता दर्शन सिंह और माता अमरजीत कौर को हौसला देते हुए कहा कि उनके पुत्र ने देश के लिए जान दी है और वह सदैव अमर रहेगा।

इस मौके पर सांसद भगवंत मान और सांसद प्रो. साधू सिंह ने 1-1 महीने का वेतन पंजाब के चारों शहीदों के परिवारों को देने का ऐलान किया। साथ ही कहा कि प्रदेश सरकार चारों शहीद जवानों के परिवारों को 12 लाख रुपए की बजाय 1-1 करोड़ रुपए की सहायता राशि प्रदान करे। पत्रकारों से बातचीत करते हुए सांसद भगवंत मान ने कुछ शहीदों के वारिसों के कम पढ़े-लिखे होने का जिक्र करते हुए कहा कि नौकरी का पैमाना सर्टीफिकेट न होकर उनकी शहादत हो जिस करके शहीदों के वारिसों को कम से कम गजेटिड अधिकारी की नौकरी दी जानी चाहिए ताकि आने वाली पीढ़ी का देश के लिए काम करने का जज्बा कायम रह सके और उनके अभिभावक शान से जी सकने के काबिल हो सकें। उन्होंने कहा कि पहले सैनिक देश को आजाद करवाने के लिए शहीद हुए थे और अब आजादी को कायम रखने के लिए शहीद हो रहे हैं। 
 

टकसाली अकालियों और बसपा से बात चल रही है
महागठबंधन में आम आदमी पार्टी के शामिल होने संबंधी भगवंत मान ने कहा कि 22-23 पार्टियों का समीकरण अभी साफ नहीं हुआ है। इस करके आम आदमी पार्टी पहले ही ऐलान कर चुकी है कि दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ और गोवा में कांग्रेस के साथ मिल कर लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा जाएगा। पंजाब की बात करते हुए उन्होंने कहा कि यहां टकसाली अकालियों और बसपा से बात चल रही है। 

 

Related Stories:

RELATED फर्जी इंकलाबी है भगवंत मान: खैहरा