दंगल 2019ः लोकसभा चुनाव से पहले  देश भक्ति पर आधारित फिल्मों की लगेगी कतार

जालंधर(नरेश कुमार): लोकसभा चुनाव के प्रचार में बॉलीवुड का इस्तेमाल लंबे समय से होता है लेकिन इस बार बॉलीवुड का इस्तेमाल अप्रत्यक्ष रूप से देश भक्ति पर आधारित और राजनीतिक सन्देश देने वाली फिल्मों के जरिए होने जा रहा है। लोकसभा चुनाव से पूर्व अगले 6 महीने में देश भक्ति पर आधारित फिल्मों की कतार लगने जा रही है। इन फिल्मों को भाजपा की चुनावी तैयारी का अहम दाव माना जा रहा है। देश भक्ति पर आधारित जॉन अब्राहम की एक फिल्म ‘परमाणु-द स्टोरी ऑफ पोखरण’ रिलीज हो चुकी है। इसमें बताया गया है कि किस तरह से केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने तमाम अंतर्राष्ट्रीय दबाव को दरकिनार करते हुए पोखरण में परमाणु परीक्षण कर के देश की ताकत का लोहा मनवाया था। इस फिल्म ने 50 करोड़ रुपए का बिजनैस किया है।


देश भक्ति पर आधारित जॉन अब्राहम की अगली फिल्म ‘सत्यमेव जयते’ 15 अगस्त को रिलीज होने जा रही है। इस फिल्म में जॉन अब्राहम पुलिस अफसर की भूमिका में नजर आएंगे। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी समझे जाते अक्षय कुमार की फिल्म ‘गोल्ड’ भी इस साल स्वतंत्रता दिवस पर ही रिलीज होगी। फिल्म में भारतीय हॉकी के जरिए देश भक्ति का सन्देश देने की कोशिश की गई है। अगले महीने 3 अगस्त को रिलीज होने वाली फिल्म ‘मुल्क’ में भी एक मुस्लिम के जरिए लोगों को देश भक्ति का सन्देश देने की कोशिश की गई है।

मौजूदा मोदी सरकार के कार्यकाल में उड़ी पर हुए आतंकी हमले के बाद की गई सर्जिकल स्ट्राइक पर आधारित फिल्म ‘उड़ी’ भी सितम्बर में रिलीज होने जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी मेक इन इण्डिया योजना पर आधारित फिल्म ‘सूई धागा’ भी सितम्बर में रिलीज होगी।

भारत-चीन के मध्य 1967 में हुई जंग पर आधारित फिल्म ‘पलटन’ भी सितम्बर में रिलीज होगी। अपनी उपलब्धियों के अलावा कांग्रेस पर हमला करती फिल्म ‘द एक्सीडैंटल प्राइम मिनिस्टर’ भी इस साल के अंत में रिलीज होगी। इस फिल्म में भाजपा के करीबी अनुपम खेर मनमोहन सिंह की भूमिका में हैं। कुल मिला कर इन फिल्मों के जरिए अप्रत्यक्ष रूप से चुनाव प्रचार होगा और युवा वर्ग को प्रभावित करने की कोशिश की जाएगी। 

Related Stories:

RELATED मिशन 2019: BJP कार्यकर्ताओं को मोदी मंत्र, ‘मेरा बूथ, सबसे मजबूत’