ऊना में बैंकों ने बांटा 340.22 करोड़ का ऋण

ऊना (कंवर):जिला स्तरीय बैंक सलाहकार एवं समीक्षा बैठक बचत भवन ऊना में शिव कृष्ण पराशर सहायक आयुक्त की अध्यक्षता में हुई। बैठक में पहली तिमाही की बैंकों द्वारा लक्ष्यों के बदले उपलब्धियों की समीक्षा करते हुए पंजाब नैशनल बैंक हमीरपुर मंडल के प्रमुख किरण कुमार तरानिया ने बताया कि जिला के बैंकों ने जून, 2018 तक 347.75 करोड़ के ऋणों के लक्ष्य के बदले 340.22 करोड़ के ऋण वितरित किए। यह प्राप्ति 97.83 प्रतिशत है। बैंकों की जमा राशि 7998.08 करोड़ हो गई है, इसमें 11.39 प्रतिशत वार्षिक दर से वृद्धि हुई है जबकि ऋण 25.68 प्रतिशत की दर से बढ़कर 3000.54 करोड़ हो गया है। 

जिला का ऋण जमा अनुपात वर्ष में 33.25. से बढ़कर 37.52 प्रतिशत हो गया है। जिला का सी.डी. अनुपात राष्ट्रीय लक्ष्य से 60 प्रतिशत की अपेक्षा कम है। बैंकों का सी.डी. अनुपात सुधारने हेतु बैंकों और सरकारी विभागों को प्रयत्न करने चाहिए। जिला में बैंकों ने 30 जून, 2018 तक 46,464 कृषि कार्ड किसानों कों बांटे हैं तथा जून तिमाही में बैंकों ने 1029 कृषि कार्ड किसानों कों बांटे हैं। बैंकों का कृषि ऋण 848.36 करोड़ है जोकि कुल ऋणों का 28.27 प्रतिशत है। मंडल प्रमुख ने बैंकों से अनुरोध किया कि जिला की जनता के जीवन स्तर को सुधारने हेतु हर तरह की सहायता की जाए। बैंकों को किसानों की आय बढ़ाने हेतु आवश्यक ऋण वितरित करने चाहिए। 

निर्धारित लक्ष्यों को समय पर प्राप्त करें
मुख्य जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक ताजिंद्र पाल सिंह ने बैंकों को वाॢषक ऋण योजना के अंतर्गत निर्धारित लक्ष्यों को समय पर प्राप्त करने का अनुरोध किया ताकि लोगों की आर्थिक जरूरतों कों पूरा किया जा सके। मुख्य अग्रणी बैंक प्रबंधक ताजिंद्र पाल सिंह ने अधिक से अधिक कृषि कार्ड बांटने, कृषि औजारों हेतु ऋण प्रदान करने तथा लघु उद्योगों कों बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित किया। मुख्य जिला अग्रणी बैंक ने बैंकों को मुद्रा और स्टार्टअप इंडिया योजना के अंतर्गत ऋण वितरित करने का भी अनुरोध किया। प्रधानमंत्री की सामाजिक सुरक्षा बीमा योजना के अंतर्गत लोगों को फायदा पहुंचाने हेतु सभी बैंक और सरकारी/गैर-सरकारी अधिकारी योगदान दें। अधिक से अधिक किसानों को प्रधानमंत्री की फसल बीमा योजना में शामिल करें। 

लोगों को दें योजनाओं की जानकारी
अतिरिक्त जिलाधीश ने वाॢषक ऋण योजना के अंतर्गत बैंकों की उपलब्धियों पर संतोष व्यक्त किया और जमा ऋण अनुपात उठाने हेतु बैंकों को आवश्यक कदम उठाने को कहा। उन्होंने भारत सरकार द्वारा निर्धारित लक्ष्यों तथा नीतियों का पालन करने हेतु बैंकों तथा सरकारी विभागों को दिशा-निर्देश दिए। अध्यक्ष ने बैंकों को निर्देश दिए कि वह सभी लोगों को प्रधानमंत्री की सुरक्षा बीमा योजना, जीवन ज्योति बीमा योजना और अटल पैंशन योजना के बारे में जानकारी दें और उनको इन योजनाओं में कवर करें। बैंक गरीब और जरूरतमंद लोगों को ऋण देने में प्राथमिकता दें।

किसानों को दें कृषि कार्ड 
जिला स्तरीय आरसेटी कमेटी की बैठक में निर्देशक राजकुमार डोगरा ने बताया कि इंस्टीच्यूट द्वारा चालू वित्त वर्ष के 201 बेरोजगार युवक/युवतियों को विभिन्न व्यवसायों हेतु प्रशिक्षण दिया गया। नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक अरुण कुमार ने बैठक में शामिल सदस्यों को स्वयं सहायता समूह बनाने हेतु, जे.एल.जी. तथा नए किसान क्लब बनाने का अनुरोध किया। सभी किसानों को कृषि कार्ड देने का आह्वान किया।  
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED भूस्खलन से ताश के पत्तों की तरह बिखरी जूस फैक्ट्री, मलबे में दबा कंपनी प्रबंधक (Video)