वीडियो कॉलिंग बनी रोहित की मौत की वजह, पत्नी ने खो दिया था आपा

नई दिल्ली(नवोदय टाइम्स): अपूर्वा रोहित से संतान चाहती थी लेकिन रोहित राजनीति में अपना कैरियर बनाना चाहता था यही बात अपूर्वा को नागवार थी। यही नहीं प्रॉपर्टी और अक्सर की अनबन रोहित और अपूर्वा के बीच दूरियों को बढ़ा रही थी। इन दोनों के बीच झगड़े इतने बढ़े कि शादी के 18वें दिन अपूर्वा अपने पति को छोड़कर अपने मायके इंदौर चली गई। परिजनों के समझाने पर वह वापस घर तो आ गई, लेकिन वह रोहित के कमरे से अलग दूसरे कमरे में सोने लगी। इस दौरान रोहित की नजदीकियां एक महिला से बढ़ गई और उसे राजनीति में जाने की इच्छा हुई। अपूर्वा अपने पति से संतान चाहती थी। मगर, रोहित इसके लिए तैयार नहीं थे। अपूर्वा को लगता था कि अन्य महिला से नजदीकियों के चलते ही रोहित अब उसे पंसद नहीं करते। ये बात भी साफ हो गई है कि रोहित की हत्या आवेश में की गई कोई प्लानिंग के तहत नहीं। 

काश उस रात नहीं जाती कमरे में 
बीती रात जब पुलिस ने साक्ष्यों के बाद अपूर्वा से सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गई। सीसीटीवी फुटेज के देखने के बाद उसने पुलिस टीम से कहां काश नहीं जाती उस रात कमरे में तो रोहित जिंदा होता। हालांकि उसे रोहित की हत्या का पछतावा नहीं है, उसे पछतावा इस बात का है कि हत्या के बाद करीब डेढ़ घंटे के दौरान उसने वह सभी साक्ष्यों को मिटा दिया था जिससे वह फंस सकती थी लेकिन वह भूल गई कि तीसरी आंख और उसके बदले बयान उसे फंसा रहे हैं। 



उस दिन वीडियो कॉलिंग में देखा शराब पीते तो खो बैठी आपा
पुलिस को दिए बयानों में अपूर्वा ने खुलासा किया कि  विडियो कॉलिंग के दौरान दोनों को एक ही गाड़ी में शराब पी रहें थे जिसको देख उसे बेहद गुस्सा अया। इसीलिए जब रोहित की मां और दोस्त राजीव तिवारी और उसकी पत्नी कुमकुम वापिस चले गए तो वह उसी बात को पूछने कमरे में गई थी,लेकिन रोहित ने जवाब की जगह उसे गाली दी जिससे उसने अपना आपा खो दिया और हत्या जैसी घटना को अंजाम दिया। 


शादी के 18वें दिन ही अपूर्वा चली गई थी मायके...
मूलरूप से इंदौर निवासी अपूर्वा शुक्ला तिवारी के पिता पदमाकर शुक्ला पेशे से वकील हैं। अपूर्वा ने भी वकालत की पढ़ाई की थी। 2017 में एक मेट्रीमोनियल साइट के जरिए 35 वर्षीय अपूर्वा की मुलाकात रोहित शेखर तिवारी से लखनऊ में हुई थी। दोनों एक-दूसरे से मिले। अपूर्वा रोहित के परिवार व उसकी प्रॉपर्टी को देखकर उसे दिल दे बैठी। दोनों अक्सर एक-दूसरे से मिलने लगे। यहां तक दोनों एक-दूसरे के साथ लिव इन रिलेशन में भी रहे। लेकिन कुछ दिनों साथ में रहने के बाद अचानक दोनों के रिश्तों में कड़वाहट आ गई। इसकी जानकारी उसकी मां उज्जवला शर्मा को भी हो गई। दोनों ने शादी से भी इंकार कर दिया।




कब-कब क्या हुआ...

सोमवार (15 अप्रैल)
1.30 बजे (आधी रात)-रोहित शराब के नशे में कोटद्वार से वोट डालकर घर लौटे 
1.45 बजे-अपने कमरे में सोने चले गए 

मंगलवार 
4 बजे (दोपहर बाद) परिजनों ने कमरे में रोहित की नाक से खून निकलता देखा 
4.30 बजे- रोहित को साकेत स्थित मैक्स अस्पताल ले जाया गया 
4.41 बजे- पुलिस को रोहित की मौत की सूचना दी गई 
10 बजे (रात में)- रोहित के शव को पोस्टमार्टम के लिए एम्स भेजा गया 

बुधवार 
2 बजे दोपहर-पांच डाक्टरों के पैनल ने रोहित के शव का पोस्टमार्टम किया 
4 बजे- शव परिजनों को सौंपा गया 
6 बजे  (शाम)-लोधी कालोनी स्थित श्मशान घाट में शव का अंतिम संस्कार
किया गया 

वीरवार
8 बजे (रात)- पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट में अस्वाभाविक मौत की पुष्टि और पुलिस को अपराध को कोणों से जांच की संस्तुति। डॉक्टरों ने मंगलवार दोपहर डेढ़ बजे रोहित के मरने की बात कही
10 बजे- मामला क्राइम ब्रांच में ट्रांसफर कर हत्या की धारा के तहत मुकदमा दर्ज किया

शुक्रवार
10 बजे- क्राइम ब्रांच के अधिकारी डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित की कोठी पर पहुंचे। सीसीटीवी फुटेज खंगालने सहित अन्य तकनीकी सर्विलांस से मामले की छानबीन की शुरू

सोमवार (22 अप्रैल)
11 बजे (सुबह)-फारेंसिक रिपोर्ट में गला घोंटकर हत्या की पुष्टि, पुलिस का अपूर्वा पर हत्या का शक गहराया

मंगलवार 
11 बजे- अपूर्वा सहित रोहित के परिजनों और घटना के वक्त कोठी पर मौजूद नौकर व अन्य से पूछताछ जारी 

बुधवार
10 बजे- सबूत और परिस्थितजन्य साक्ष्यों के आधार पर क्राइम ब्रांच ने अपूर्वा को गिरफ्तार किया

Related Stories:

RELATED चेन्नई को हराने के बाद रोहित ने खोला राज, बताई जीत की बड़ी वजह