पहली बार राफेल सौदे पर सामने आकर बोले अंबानी, कहा- सच्चाई की जीत होगी

मुंबई: राफेल सौदे को लेकर जारी विवाद के बीच उद्योगपति अनिल अंबानी ने आज कहा सच्चाई की जीत होगी। राफेल सौदे के तहत फ्रांस की कंपनी से अंबानी को ही विवादास्पद ठेका मिला है। उन्होंने यह बात ऐसे समय कही है जब राफेल सौदे को लेकर वित्त मंत्री अरूण जेतली और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक-दूसरे पर आज ताजा आरोप लगाए। 


आरोप को आधारहीन और दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए अंबानी ने कहा, ‘‘सच्चाई की जीत होगी।’’ उन्होंने कहा कि जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं, वह दुर्भावनापूर्ण, निहित स्वार्थ और कंपनी प्रतिद्वंद्विता से प्रेरित है।

अंबानी से मीडिया ने पूछा था कि राफेल सौदा मामले में उनकी कंपनी ने 5,000 करोड़ रुपए के मानहानि मामले में कांग्रेस अध्यक्ष को अलग क्यों रखा। ‘‘मैंने व्यक्तिगत रूप से गांधी को पत्र लिखा और उनसे कहा है कि कांग्रेस के पास गलत और गुमराह करने वाली सूचना है जो दुर्भावनापूर्ण निहित स्वार्थ और कंपनी प्रतिद्वंद्विता का नतीजा है।’’  

उन्होंने आर इंफ्रा के मुंबई में बिजली कारोबार का अडाणी समूह को 18,800 करोड़ रुपए में बेचे जाने का सौदा पूरा होने की घोषणा के बाद यह बात कही। उन्होंने इस सवाल का जवाब टाल दिया कि क्या गांधी के खिलाफ भी मानहानि का मुकदमा करने की जरूरत है, अंबानी ने कहा, ‘‘सभी आरोप बेबुनियाद, गलत सूचना पर आधारित और दुर्भाग्यपूर्ण हैं।’’ राफेल सौदे को लेकर जेतली और गांधी ने एक-दूसरे पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है। गांधी ने इसे अब तक की सबसे बड़ी लूट बताया वहीं जेतली ने फेसबुक ब्लाग पर कांग्रेस अध्यक्ष से 15 सवाल पूछे हैं।  

Related Stories:

RELATED राफेल मामले में ‘गारंटी नहीं होने’ को लेकर राहुल ने साधा PM मोदी पर निशाना