अमेरिका की दूसरी सबसे अमीर कंपनी बनी Amazon, 2 अगस्त को Apple ने हासिल किया था मुकाम

सैन फ्रांसिस्कोः अमेजन एक ट्रिलियन डॉलर (71 लाख करोड़ रुपए) मार्केट कैप वाली अमेरिका की दूसरी और दुनिया की तीसरी कंपनी बन गई। इसका शेयर मंगलवार को 2% तेजी के साथ 2050.50 डॉलर पर पहुंच गया। इस बढ़त से मार्केट वैल्यू में इजाफा हुआ। एपल दो अगस्त को 1 ट्रिलियन डॉलर वाली पहली अमेरिकी कंपनी बनी। इससे पहले 2007 में शंघाई के शेयर बाजार में पेट्रोचाइना का मार्केट वैल्यूएशन इस स्तर पर पहुंचा था। हालांकि, कारोबार खत्म होने पर एक ट्रिलियन डॉलर से नीचे आ गया था।
PunjabKesari
अमेजन की मार्केट वैल्यू भारतीय अर्थव्यवस्था का 38 फीसदी हो गई है। अगर ऑनलाइन रिटेलर कंपनी की ये ग्रोथ ऐसे ही बरकरार रहती है, तो आने वाले दिनों में संभव है कि कंपनी 1 ट्रिलियन डॉलर से भी आगे निकल जाए।
PunjabKesari
इस शानदार ग्रोथ के बाद 'अमेज़न' अब सिर्फ आईफोन कंपनी 'एप्पल' से पीछे है। 'एप्पल' ने 2 अगस्त को 1 ट्रिलियन डॉलर का आकंड़ा पार किया था। दुनिया के सिर्फ 16 देश ही ऐसे हैं जिनकी जीडीपी 'एप्पल' की मार्केट वैल्यू से ज़्यादा है यानी, एप्‍पल 177 देशों से ज़्यादा अमीर है। 'एप्‍पल' चाहे तो 3 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था वाले पाकिस्तान जैसे तीन देशों को खरीद सकती है। पिछले 12 महीने में अमेजन के शेयर ने 108% रिटर्न दिया है। इस साल जनवरी से अब तक इसमें 74% तेजी आई।पिछले तीन महीने में निवेशकों को 20% मुनाफा हुआ है। वहीं, पिछले एक महीने में इसके शेयर्स में करीब 12% उछाल आया है।
PunjabKesari
आपको बता दें कि 'अमेजन' की शुरुआत 1994 में ऑनलाइन बुक-रिटेलर कंपनी के तौर पर हुई थी। इसके फाउंडर और चीफ एग्जीक्यूटिव जेफ बेजोस ने 1997 में बिजनेस करना शुरू किया। बता दें कि 'अमेजन' के साथ ही इसके फाउंडर जेफ बेजोस हाल ही में दुनिया के सबसे अमीर शख्स बने हैं। फोर्ब्स की अरबपतियों की लिस्ट के मुताबिक, बेजोस 141.9 अरब डॉलर (9.64 लाख करोड़ रुपए) नेटवर्थ के साथ दुनिया के सबसे अमीर शख्स हैं।

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED अमेजॉन के CEO जेफ बेजोस ने बनाया फंड, गरीबों को दान करेंगे 14500 करोड़ रुपए